नाम बताने के बाद डायरेक्टर ने नहीं करवाए थे अमिताभ बच्चन से कॉन्ट्रैक्ट पर साइन, पिता हरिवंश राय थे वजह

अमिताभ बच्चन की पहली फिल्म सात हिंदुस्तानी थी। ये एक मल्टीस्टारर फिल्म थी। लेकिन पिता का नाम बताने पर अमिताभ कॉन्ट्रैक्ट पर साइन नहीं कर पाए थे क्योंकि डायरेक्टर उनके पिता के दोस्त थे।

Amitabh Bachchan, Harivansh Rai Bachchan
पिता हरिवंश राय बच्चन और मां तेजी बच्चन के साथ अमिताभ बच्चन (Express Archive Photo)

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन आज अपना 79वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। अमिताभ बच्चन की फैन फॉलोइंग दुनियाभर में है। अमिताभ को आज अगर हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का सबसे कामयाब एक्टर भी कहा जाए तो कोई गलत नहीं होगा, लेकिन उनके करियर की शुरुआत भी अन्य एक्टर्स की तरह हुई थी। अमिताभ हीरो बनने का सपना लेकर मुंबई पहुंचे थे। उन्हें भी इस मुकाम तक पहुंचने के लिए लंबा संघर्ष करना पड़ा था।

साल 1969 में रिलीज हुई फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ उनकी पहली फिल्म थी। इससे पहले उन्होंने कई डायरेक्टर और प्रोड्यूसर के दरवाजे खट-खटाए थे, लेकिन ब्रेक नहीं मिल पाया था। सात हिंदुस्तानी के प्रोड्यूसर और डायरेक्टर ख्वाजा समीर अब्बास थे। समीर अब्बास ने अपनी जीवनी ‘आई एम नॉट एन आईलैंड’ में अमिताभ बच्चन से पहली मुलाकात का विस्तार से जिक्र किया है। वह याद करते हैं, मैं उन दिनों सात हिंदुस्तानी की कास्टिंग कर रहा था तो कोई मेरे सामने एक लंबे से युवक की तस्वीर लेकर आया।

पहले क्यों नहीं मिली थी फिल्म? ख्वाजा समीर अब्बास लिखते हैं, मैंने तस्वीर में पहली बार उस युवक को देखा और मिलने के लिए बुलवाया। शाम को करीब छह बजे वही लंबा युवक कमरे में दाखिल हुआ। वो कुछ ज्यादा ही लंबा लग रहा था। क्योंकि उसने चूड़ीदार पायजामा और नेहरू जैकेट पहनी हुई थी। मैंने उससे नाम पूछा तो उसने बताया- अमिताभ। पढ़ाई के बारे में पूछने पर उसने दिल्ली विश्वविद्यालय का नाम लिया। मेरा अगला सवाल था- आपने कभी फिल्मों में काम किया? क्या वजह थी? युवक ने जवाब दिया- मुझे किसी ने फिल्म में नहीं लिया। उनका कहना था कि मैं हीरोइन से ज्यादा लंबा नजर आता हूं।

डायरेक्टर ने पिता से ली थी इजाजत: समीर अब्बास जवाब में कहते हैं- इसकी परेशानी हमारे साथ नहीं है क्योंकि हमारी फिल्म में कोई एक्ट्रेस है ही नहीं। इसके बाद कॉन्ट्रैक्ट की चीजें शुरू हुईं। मैंने उसका पूरा नाम पूछा तो जवाब आया- अमिताभ बच्चन, पुत्र हरिवंश राय बच्चन। मैंने कहा रुको तुम्हारे पिता की इजाजत के बिना इस कॉन्ट्रैक्ट पर साइन नहीं हो सकते। क्योंकि वो मेरे जानने वाले हैं। तुम्हें दो दिन का इंतजार करना होगा। मैंने टेलीग्राम भेजा और डॉक्टर बच्चन ने कहा कि उन्हें कोई आपत्ति नहीं है।

बता दें, अमिताभ बच्चन ने अपने करियर के शुरुआत की 12 फिल्में फ्लॉप दी थीं। इसके बाद सलीम-जावेद की लिखी फिल्म ‘जंजीर’ उनके करियर में मील का पत्थर साबित हुई थी। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे-मुढ़कर नहीं देखा। हाल ही में अमिताभ बच्चन फिल्म ‘चेहरे’ में नजर आए थे। इसमें उनकी एक्टिंग की काफी तारीफ की गई थी।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट