super 30 anand kumar hrithik roshan abhayanand vikas bahl - सुपर-30 के संस्थापक ने रितिक रोशन की फिल्म को बताया झूठ का पुलिंदा, आनंद कुमार पर भी बरसे - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सुपर-30 के संस्थापक ने रितिक रोशन की फिल्म को बताया झूठ का पुलिंदा, आनंद कुमार पर भी बरसे

अनुराग कश्यप के निर्देशन बन रही फिल्म 'सुपर 30' विवादों में फंस गई है। यह फिल्म पटना के सुपर 30 कोचिंग के संस्थापक आनंद कुमार की बायोपिक है।

Author नई दिल्ली | January 19, 2018 12:43 PM
बॉलीवुड एक्टर रितिक रोशन।

रितिक रोशन अपनी अपकमिंग फिल्म ‘सुपर 30’ को लेकर सुर्खियों में हैं। रितिक फिल्म की शूटिंग के लिए 25 जनवरी को रामनगर जा रहे हैं। अनुराग कश्यप के निर्देशन बन रही फिल्म ‘सुपर 30’ विवादों में फंस गई है। दरअसल यह फिल्म पटना के सुपर 30 कोचिंग के संस्थापक आनंद कुमार की बायोपिक है। लेकिन इसी बीच कोचिंग के संस्थापक और बिहार के पूर्व डीजीपी अभयानंद ने फिल्म के निर्माताओं और एक्टर रितिक रोशन पर निशाना साधा है। अभयानंद का कहना है, ‘फिल्म में बताई जा रही कुछ बातें सही नहीं है।’

जूम की रिपोर्ट के मुताबिक, कोचिंग के संस्थापकों में से एक और बिहार के पूर्व डीजीपी अभयानंद ने बताया, ”आनंद कुमार अपने सुपर 30 प्रोग्राम के लिए जाने जाते हैं, लेकिन उनका इस प्रोग्राम की पूरा क्रिडेट लेना ठीक नहीं है। मेरा मानना है कि रितिक की फिल्म फिक्शन पर आधारित है क्योंकि फिल्म की कहानी में कुछ चीजें गायब हैं। मेरा नाम कहीं भी फिल्म में नहीं लिया गया। फिल्म के निर्माताओं को लगता है कि मेरा कही योदगान ही नहीं रहा। बिहार के लोगों को सच्चाई पता है उनकी फिल्म बिहार के लोगों को पसंद नहीं आएगी। फिल्म के एक्टर रितिक को खुद से सच्चाई पता करनी चाहिए। वह पटना जाकर पता कर सकते हैं कि सच्चाई क्या है।” बता दें कि अभयानंद भी सुपर-30 के सह संस्थापक थे।

Hrithik Roshan, Hrithik Ex wife Sussanne Khan, Hrithik Roshan, Hrithik Roshan Birthday, Ex wife Sussanne on Hrithik Roshan Birth Day, Ex wife Sussanne messageto Hrithik, Sussanne on instagram, Hrithik and Ex wife Sussanne lovely picture, bollywood news, television news, entertainment news, bollywood news, television news ऋतिक रोशन और पूर्व पत्नी सुजैन खान

बता दें कि यह फिल्म पटना के आनंद कुमार पर बनाई जी रही है। जिन्होंने साल 1992 में गणित पढ़ाना शुरु किया था। शुरुआती समय में उन्होंने 500 रुपए महीने के एक किराए के कमरे में पढ़ाया, लेकिन एक ही साल में 2 छात्रों को पढ़ाने का सफर शुरु 36 पहुंच गया। इसके बाद कुछ ही समय में कोचिंग में पढ़ने वाले छात्रों की संख्या 500 पहुंच गई। आनंद ने इस सफलता से प्रेरित होकर सुपर 30 की शुरुआत की। उन्होंने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कराने के लिए ऐसे 30 छात्रों का चयन किया जो पढ़ने में अच्छे थे लेकिन गरीब परिवार से थे। आनंद की मेहनत का नतीजा यह रहा कि उनके पढ़ाये बच्चों में 18 छात्रों का आईआईटी में चयन हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App