ताज़ा खबर
 

पिता के डर से गार्डन में लेटकर जूठी सिगरेट पीते थे संजय दत्त, पकड़े जाने पर ऐसा था सुनील दत्त का रिएक्शन

सुनील दत्त ने एक बार संजय दत्त से जुड़ा किस्सा बताया था। उन्होंने बताया था कि संजय गार्डन में लेटकर एक बार सिगरेट पी रहा था। मैंने उसे पकड़ लिया और बोर्डिंग स्कूल भेजने का फैसला किया था।

सुनील दत्त के साथ संजय दत्त (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

संजय दत्त की पर्सनल लाइफ काफी चर्चा में रही है। एक बार संजय दत्त अपनी फिल्म का प्रमोशन कर रहे थे तो उनसे पत्रकार ने पूछा कि वो अपने जीवन से कौन-सा कलंक हटाना चाहते हैं? इसके जवाब में उन्होंने कहा था कि मेरा जेल जाना और ड्रग एडिक्ट होना, ये दोनों ही मेरे जीवन का कलंक है। संजय दत्त के पिता और दिवंगत अभिनेता सुनील दत्त ने भी उनसे जुड़ा एक किस्सा साझा किया था।

इंडिया टीवी के शो ‘आप की अदालत’ में भी सुनील दत्त बतौर मेहमान शामिल हुए थे। सुनील दत्त से रजत शर्मा ने सवाल किया था, ‘आपको नहीं लगता कि बेटे की परवरिश में कहीं आपसे कमी रह गई?’ इसके जवाब में सुनील दत्त कहते हैं, ‘बच्चियां थोड़ी विनम्र होती हैं जबकि बच्चे थोड़े उग्र होते हैं। मैंने एक दिन संजय को पकड़ लिया था। मुझे मिलने प्रोड्यर और तमाम लोग आते थे तो बहुत प्यार करते थे कि सुनील दत्त का बेटा है।’

बोर्डिंग स्कूल भेजने का किया था फैसला: सुनील दत्त आगे बताते हैं, ‘वो लोग एक दिन मेरे ड्राइंग रूम में बैठे हुए थे तो सिगरेट पीने के बाद बाहर फेंक देते थे। मैं भी ध्यान नहीं देता था। एक दिन मैंने देखा कि संजय गार्डन में सीधा लेटा हुआ है और नीचे से धुआं आ रहा है। ये देखकर एक दम चौंक गया। मैंने पकड़कर उसे ऊपर खींचा तो देखा कि वो सिगरेट पी रहा था। मैंने नरगिस दत्त को बुलाकर कहा कि ये तो बहुत गड़बड़ है। ये फिल्म इंडस्ट्री के लोग जो आते हैं वो उसे खराब कर देंगे। फिर हमने इसे बोर्डिंग स्कूल भेजने का फैसला किया।’

दिलीप कुमार को दिखाई थी संजय की फिल्म: टीवी शो ‘जीना इसी का नाम है’ में सुनील दत्त ने बताया था कि संजय दत्त की फिल्म वास्तव को मैंने दिलीप कुमार को दिखाया था। मेरी ये इच्छा भी थी कि वो इस फिल्म को देखें तो मैंने अपने घर के थिएटर में ये फिल्म उन्हें दिखाई। वो मुझे थिएटर से हाथ पकड़कर बाहर ले आए। बाहर टैरेस पर हम दोनों चर्चा करने लगे कि अगर इस फिल्म को संजू नहीं करता तो कौन करता? लंबी चर्चा करने के बाद हम इस नतीजे पर पहुंचे कि ये संजू के अलावा कोई नहीं कर सकता था। मुझे बहुत अच्छा भी लगा यूसुफ साहब के मुंह से सुनकर।

Next Stories
1 विपक्षी नेताओं से लेकर SC जज तक को नहीं बख्शा- लोकतंत्र की गर्दन मरोड़कर रख दी- ‘पेगासस’ मामले पर बोले पूर्व IAS
2 पेगासस मामले को पुण्य प्रसून बाजपेयी ने बताया लोकतंत्र पर साइबर अटैक, कांग्रेस नेता बोले- जासूसी का धंधा जारी
3 बॉलीवुड एक्टर ने 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में की BJP की हार की भविष्यवाणी, लोग करने लगे ऐसे कमेंट
ये पढ़ा क्या?
X