डीएनए में बोले सुधीर चौधरी – लोकतंत्र की आड़ में शहरों को बंधक बनाने की हो रही है कोशिश , आने लगे ऐसे कमेंट

सुधीर चौधरी बोले,'अगर भारत के संसद द्वारा बनाया गया कानून एक बार सरकार ने वापस लिया तो फिर हर कानून को वापस लेने का दबाव ऐसे ही बढ़ता चला जाएगा।'

Author Edited By यतेंद्र पूनिया December 10, 2020 3:43 PM
sudhir chaudhary, farmer protestसुधीर चौधरी ने डीएनए में किया विश्लेषण

उत्तर भारत के कई राज्यों के किसान कृषि बिलों के विरोध में सड़कों पर हैं। किसानों ने कल आंदोलन को और तेज करने की बात कही है। आजकल टीवी चैनल्स पर भी किसान आंदोलन को लेकर खूब चर्चा हो रही हैं। कल डीएनए में सुधीर चौधरी ने ‘लोकतंत्र की अति से देश को क्षति ?’ पर विश्लेषण किया।

डीएनए में सुधीर चौधरी बोले,’कई बार लोकतंत्र के नाम पर देश में बड़े-बड़े फैसले जनता के मूड को आधार बनाकर ले लिए जाते हैं, चाहे उनमें मेरिट हो या ना हो। इसलिए आज यह समझने का दिन है कि देश में कोई भी बड़ा फैसला जनता के मूड के आधार पर लिया जाएगा या मेरिट के आधार पर ?’सुधीर चौधरी आगे बोले,’जरूरत से ज्यादा लोकतंत्र की आड़ में शहरों को बंधक बनाने की कोशिश हो रही है। हमें सड़कों को जाम करने की पूरी आजादी है। हाईवे बंद करने की पूरी आजादी है। भारत बंद करने की आजादी है। दफ्तरों को बंद करा देंगे, बाजारों को बंद करा देंगे। ये सब कुछ हो रहा है लोकतंत्र के नाम पर।’

अगर भारत के संसद द्वारा बनाया गया कानून एक बार सरकार ने वापस लिया तो फिर हर कानून को वापस लेने का दबाव ऐसे ही बढ़ता चला जाएगा। हो सकता है लोग हमें लोकतंत्र विरोधी बताएंगे लेकिन गंभीर समस्याओं के सरल जवाब तलाशने की हमारी जिद्द आज हमारे देश को इस मुहाने पर ले आई है जहां से हम हर सुधार का, हर नई बात का, हर नए कानून का विरोध करते हैं। जिसे कहा तो जाता है ये लोकतंत्र है लेकिन यह लोकतंत्र धीरे-धीरे जरूरत से ज्यादा लोकतंत्र में बदल जाता है। यानी यह जरूरत से ज्यादा मीठा हो जाता है और इतना मीठा हो जाता है कि देश को डायबिटीज दे देता है।’

सुधीर चौधरी ने इस वीडियो को ट्वीट भी किया है जिसपर यूजर्स की तरह-तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही हैं।अनुराग बरनवाल नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,’जनता का मूड सीता मईया के जमाने में भी था लेकिन आखिर में क्या हुआ, बेगुनाह को सजा दी गई सिर्फ जनता के मूड़ पर।’ अखिलेश तिवारी नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,’लोकतंत्र का सबसे ज्यादा और मनमाना इस्तेमाल अगर किसी ने किया है तो वो है आपकी पत्रकार बिरादरी ने,बस आप जैसों पर लगाम लगा दी जाए। सब बेहतर हो जाएगा।’

Next Stories
1 बिग बॉस 14 : अर्शी खान और विकास गुप्ता‌‌ में भिड़ंत, अर्शी बोलीं – ये रियलिटी शो है या आपका शो है
2 दादा दादी बन गए मुकेश-नीता अंबानी, आकाश और श्लोका मेहता के घर आया नन्हा मेहमान
3 ‘कोरोना से खतरनाक किसान, स्कॉच पीने वाले हो तुम..’, लाइव डिबेट शो में बोलने लगा पैनलिस्ट, गुस्से में तमतमाते हुए बोले पवन खताना- ‘तो क्या तुम हो किसान?’
यह पढ़ा क्या?
X