सुधा चंद्रन से एयरपोर्ट पर निकलवाया गया कृत्रिम पैर, परेशान एक्ट्रेस ने की थी PM मोदी से शिकायत; अब CISF ने मांगी माफी

सुधा चंद्रन ने एयरपोर्ट पर हुई परेशानियों के लिए पीएम मोदी से शिकायत की। इस बात पर अब सीआईएसएफ ने उनसे माफी मांगी है।

sudha chandran, cisf
टीवी की मशहूर एक्ट्रेस और डांसर सुधा चंद्रन (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

टीवी की मशहूर एक्ट्रेस और डांसर सुधा चंद्रन को बीते दिन उनके कृत्रिम पैर की वजह से एयरपोर्ट पर रोका गया था। इस बात से आहत होकर एक्ट्रेस ने वीडियो शेयर किया, जिसमें उन्होंने मामले की शिकायत पीएम मोदी से की। साथ ही एक्ट्रेस ने पीएम मोदी से कृत्रिम अंग वाले लोगों को एक कार्ड जारी करने की भी अपील की। सुधा चंद्रन के इस कदम के बाद अब सीआईएएसएफ ने उनसे माफी मांगी, साथ ही उन्हें आश्वासन भी दिया कि ऐसी गलती दोबारा नहीं होगी।

56 वर्षीय सुधा चंद्रन ने एक हादसे में अपना पैर खो दिया था। हालांकि उन्होंने नकली पैर के जरिए एक्टिंग और डांसिंग की दुनिया में वापसी की। लेकिन वह जब भी सफर करती हैं तो सुरक्षा एजेंसियों द्वारा उन्हें कृत्रिम पैर को निकालने के लिए कहा जाता है। एक्ट्रेस ने इस बारे में बताया कि लगातार कई अनुरोध करने के बाद भी उनसे उस पैर को निकालने के लिए कहा जाता है।

सुधा चंद्रन ने एयरपोर्ट पर हुई परेशानी को लेकर वीडियो साझा किया और कहा, “यह बहुत ही व्यक्तिगत नोट है जिसे मैं अपने आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताना चाहती हूं। यह केंद्र सरकार से एक अपील भी है। मैं सुधा चंद्रन एक एक्ट्रेस और डांसर, जिसने अपने कृत्रिम पैर के साथ डांस किया, एक इतिहास रच दिया और देश को बहुत गर्वित भी महसूस कराया।”

सुधा चंद्रन ने वीडियो में आगे कहा, “लेकिन जब भी मैं अपने काम की वजह से कहीं जाती हूं, हर बार मुझे एयरपोर्ट पर रोका जाता है। जब मैं सीआईएसएफ अधिकारियों से अनुरोध करती हूं कि वे मेरा ईटीडी टेस्ट कर लें, इसके बाद भी वह मुझे उसे हटाकर दिखाने के लिए कहते हैं। क्या हमारा देश इस बारे में बात कर रहा है? क्या हमारे समाज में एक महिला दूसरी महिला को ऐसे सम्मान देती है?”

सुधा चंद्रन ने वीडियो में आगे कहा, “यह मेरा विनम्र निवेदन है कि जैसे देश में वरिष्ठ लोगों को एक कार्ड मिला हुआ है, उसी तरह हमें भी स्पेशल कार्ड दिया जाए।” उनकी शिकायत पर प्रतिक्रिया देते हुए सीआईएसएफ ने लिखा, “सुधा चंद्रन को हुई परेशानियों के लिए हम माफी मांगते हैं। दिशा-निर्देशों के मुताबिक, केवल खास परिस्थितियों में ही सुरक्षा जांच के लिए कृत्रिम अंगों को हटाया जाता है।”

सीआईएसएफ ने इस सिलसिले में आगे लिखा, “हम इस बात की जांच जरूर करेंगे कि सुधा चंद्रन से महिला सुरक्षाकर्मी ने कृत्रिम पैर हटाने के लिए क्यों कहा। हम आपको आश्वासन देते हैं कि हमारे सुरक्षाकर्मियों को दिशा-निर्देशों के प्रति संवेदनशील बनाया जाएगा, जिससे यात्रियों को आगे चलकर कोई परेशानी न हो।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
सेक्स रैकेट में गिरफ्तार हुई ‘मकड़ी’ बाल कलाकार श्वेता बसु
अपडेट