ताज़ा खबर
 

रिसर्च: भारत के बाहर ये बॉलीवुड एक्‍ट्रेस है सबसे मशहूर सेलिब्रिटी

हिन्दुस्तान के करोड़ों दिलों पर राज करने वाली बॉलीवुड हीरोइनें देश के बाहर भी लोगों की चहेती हैं। कुछ हीरोइनों का जलवा तो किसी भी हॉलीवुड हीरोइन से कम नहीं है। लेकिन हाल ही एक वीडियो ऑन डिमांड एप Spuul की तरफ से जारी की गई एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि भारत के बाहर एक हीरोइन बाकी हीरोइनों से ज्यादा मशहूर है।

कैटरीना कैप, प्रियंका चोपड़ा और दीपिका पादुकोण। (फाइल फोटो- एपी/पीटीआई)

हिन्दुस्तान के करोड़ों दिलों पर राज करने वाली बॉलीवुड हीरोइनें देश के बाहर भी लोगों की चहेती हैं। कुछ हीरोइनों का जलवा तो किसी भी हॉलीवुड हीरोइन से कम नहीं है। लेकिन हाल ही एक वीडियो ऑन डिमांड एप Spuul की तरफ से जारी की गई एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि भारत के बाहर एक हीरोइन बाकी हीरोइनों से ज्यादा मशहूर है। अगर आप हॉलीवुड में धाक धमा चुकीं प्रियंका चोपड़ा या दीपिका पादुकोण का नाम सोच रहे हैं तो गलत हैं। दरअसल, विदेशियों के दिलों पर प्रियंका और दीपिका से ज्यादा कैटरीना कैफ ने कब्जा कर रखा है। कैटरीना कैफ भारत के बाहर सबसे ज्यादा मशहूर बॉलीवुड सेलेब मानी जा रही हैं। पिछले वर्ष के 1 जनवरी से लेकर 31 दिसंबर तक के डेटा के आंकड़ों पर रिपोर्ट तैयार की गई है। रिपोर्ट में ऐश्वर्या राय, करीना कपूर खान, अनुष्का शर्मा, आलिया भट्ट और काजोल आदि के नाम भी शामिल हैं।

40 मिलियन यूजरों से मिले डेटा से रिपोर्ट तैयार की गई। कैटरीना कैफ कई वर्षों तक गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च की जाने वाली सेलिब्रिटी रह चुकी हैं। कैटरीना के अलावा दिलजीत दोसांझ भारत के बाहर सबसे मशहूर पंजाबी एक्टर हैं। नीरू बाजवा लिस्ट में दूसरे पर नंबर हैं, उनके अलावा जिमी शेरगिल का भी नाम है। भारत के बाद सबसे ज्यादा पंजाबी फिल्में ऑस्ट्रेलिया में देखी जाती हैं। इसके बाद अमेरिका, न्यूजीलैंड, यूके, पाकिस्तान और कनाडा का नंबर आता है।

तमिल फिल्मों का भी देश के बाहर एक बड़ा दर्शक वर्ग है। बाहर सबसे ज्यादा तमिल फिल्में अमेरिका में देखी जाती हैं, इसके बाद सिंगापुर, मलेशिया, संयुक्त अरब अमीरात और यूनाइटेड किंगडम का नंबर आता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 50 फीसदी वीडियो ऑन डिमांड का ग्राहक 25-34 की उम्र का है। 21 फीसदी दर्शक 34-44 की उम्र का और 20 फीसदी 18-24 साल का है। इस रिपोर्ट में 80 फीसदी लोग पुरुष बताए गए हैं। एप के सीईओ सुबिन सुवैया ने कहा- ”पिछले वर्ष पंजाबी, तेलुगू, तमिल, कन्नड़ और मलयालम फिल्मों की ज्यादा मांग रही। भोजपुरी और मराठी फिल्मों की भी अच्छी मांग हो रही है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App