ताज़ा खबर
 

बिहारियों का मजाक बनाने पर कॉमेडियन जाकिर खान पर भड़कीं नीतू चंद्रा, बोलीं- अनपढ़ हो, क्या समझोगे

स्टैंडअप कॉमेडियन ने 2014 में एक टीवी चैनल पर प्रसारित हुए अपने कॉमेडी शो के एक एपिसोड में कहा था, "हालांकि, मैं मजदूर जैसा दिखता हूं। मगर मैं बिहार से नहीं हूं।"

‘हक से सिंगल’ फेम कॉमेडियन जाकिर खान पर एक्ट्रेस नीतू चंद्रा ने हमला बोला है। वह मूल रूप से बिहार की रहने वाली हैं। (फोटोः फेसबुक)

बॉलीवु़ड एक्ट्रेस नीतू चंद्रा का शुक्रवार को स्टैंडअप कॉमेडियन जाकिर खान पर गुस्सा फूटा है। लोगों को हंसाने के लिए कॉमेडी में बिहारियों का मजाक बनाने पर उन्होंने जाकिर को जमकर खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने कहा है कि बिहार ने ढेर सारे फिल्मकार, अभिनेता, नौकरशाह और ‘मजदूर’ दिए हैं। हमें उन सभी पर नाज है। वह यहीं नहीं रुकीं। आगे उन्होंने कॉमेडियन जाकिर को अनपढ़ बताते हुए कहा कि ये सारी बातें तुम्हारे समझ में नहीं आएंगीं। दरअसल, जाकिर ने 2014 में एक टीवी चैनल पर प्रसारित हुए अपने कॉमेडी शो के एक एपिसोड में कहा था, “हालांकि, मैं मजदूर जैसा दिखता हूं। मगर मैं बिहार से नहीं हूं।” मूल रूप से बिहार की एक्ट्रेस ने इसी पर बताया, “तो आप यह कहना चाह रहे हैं कि जो बिहार से होता है वह मजदूर होता है? ढेर सारे फिल्मकार, अभिनेता, नौकरशाह और ‘मजदूर’ बिहार से हैं और हमें उन पर बहुत गर्व है।”

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15398 MRP ₹ 17999 -14%
    ₹0 Cashback
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Warm Silver)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback

बिहारियों को बदसूरत बताने को लेकर उन्होंने कॉमेडियन पर हमला बोला। कहा, “बिहार के लोगों को बदसूरत बताकर मेरे राज्य का मजाक उड़ाने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई। हम बिहारी आमतौर पर बेवकूफों और बदसूरत लोगों के सामने चुप रहते हैं।”

अगले ट्वीट में एक्ट्रेस ने लिखा, “शत्रुघ्न सिन्हा, मनीष मुंद्रा, इम्तियाज अली, प्रकाश झा, नितिन चंद्रा और संदीप सिंह और कई सारे लोग बिहार से हैं। हमें उन पर नाज है। तुम अनपढ़। अपने खुद पर और अपने लालन-पालन पर शर्म करो! तुम्हारे घर वालों को भी शर्मिंदा होना चाहिए, क्योंकि तुम्हें तमीज नहीं है।”

बॉलीवुड एक्ट्रेस को बीते साल मिथिला मखान फिल्म के लिए नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। (फोटोः फेसबुक)

नीतू ने आगे यह भी कहा कि जाकिर को कलाकार नहीं कहा जाना चाहिए। उन्होंने इस बाबत लिखा, “इन्हें आर्टिस्ट मत कहिए। आर्टिस्ट बेहद संवेदनशील होते हैं। ऐसा लगता है कि वह हर चीज को बेचने की कोशिश करते हैं। खुद को मुस्लिम बताते हुए कहते हैं कि वह आतंकवादी नहीं हैं। क्या इसका मतलब है कि बाकी मुस्लिम आतंकी है और वह नहीं? वह यह भी कैसे कह सकते हैं? सच में?”

टि्वटर पर दोनों के बीच छिड़ी जंग में कुछ और यूजर्स भी कूदे थे। वे भी जाकिर की तरह बिहारियों की आलोचना कर रहे थे। उनका कहना था कि बिहारियों को अपने साथ होने वाले भेदभाव के खिलाफ बोलना चाहिए। बाद में जब एक यूजर ने उनसे पूछा कि वह तब कहां थीं, जब बिहारी पीटे गए थे। शख्स ने आगे कहा, “आपने बिहार में हमेशा परफॉर्म करने के लिए पैसे मांगे हैं। आप अभी कैसे बता सकती हैं कि बिहारी क्या करते हैं और क्या नहीं।”

एक्ट्रेस बोलीं, “मैं कहूंगी कि यह आगे भी होगा। मैं ही वह हूं, जिसे बिहार से पिछले साल नेशनल अवॉर्ड मिला था और जब हिंसा हुई, तब मैं लड़ी। मेरे प्रिय मित्र..मैं बिहार से अंतर्राष्ट्रीय ताइक्वांडो खिलाड़ी भी हूं। तो आप मेरे घर आएं और गालियां देंगे? मैंने इसे पहले नहीं सुना था।”

नीतू को पिछले साल सर्वश्रेष्ठ मैथिली फिल्म की श्रेणी में ‘मिथिला मखान’ के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला था। वह इस फिल्म की निर्माता थीं। हालांकि, जाकिर की ओर से अभी तक नीतू की टिप्पणियों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App