ताज़ा खबर
 

‘मॉम’ से पहले रजनीकांत की ‘स्टेप मॉम’ बन चुकी हैं श्रीदेवी

साल 1976 में ही श्रीदेवी मॉम नहीं बल्कि स्टेपमॉम का किरदार कर चुकी हैं, उससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात ये कि वो एक फिल्म में रजनीकांत की स्टेपमॉम बनी थीं।

श्रीदेवी और रजनीकांत।(फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

80 और 90 के दशक की फेमस एक्ट्रेस श्रीदेवी ने इस साल फिल्म ‘मॉम’ से एक बार फिर बॉलीवुड में दमदार कहानी के साथ वापसी की है। इस फिल्म में उन्होंने एक मां और टीचर का किरदार निभाया है। श्रीदेवी ने वैसे तो अपने फिल्मी करियर में कई सुपरस्टार्स के साथ काम किया है। लेकिन उनकी जोड़ी जितेंद्र और मिथुन चक्रवती के साथ लोगों ने खूब पसंद किया। जितेंद्र की फिल्म हिम्मतवाला से ही श्रीदेवी को बॉलीवुड में एक नई पहचान मिली। श्रीदेवी बॉलीवुड के अलावा कई साउथ फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं। आज हम आपको उनकी एक ऐसी ही साउथ फिल्म के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें श्रीदेवी अपने से 13 साल बड़े रजनीकांत की स्टेप मॉम बनी थीं?

साल 1976 में ही श्रीदेवी मॉम नहीं बल्कि स्टेपमॉम का किरदार कर चुकी हैं, उससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात ये कि वो एक फिल्म में रजनीकांत की स्टेपमॉम बनी थीं। इस फिल्म का नाम है मूंड्रू मुदिचू, ये एक तमिल फिल्म थी, जिसे बालचंदर ने डायरेक्ट किया था। इस फिल्म में रजनीकांत के साथ साथ कमल हासन ने भी काम किया था। हालांकि कमल हासन फिल्म में श्रीदेवी के हीरो के रूप में थे, लेकिन उनका रोल थोड़ी देर का ही था।

फिल्म में रजनीकांत कमल हासने के दोस्त हैं जो उनकी पसंद यानी श्रीदेवी पर बुरी नजर रखते हैं। एक बार जब तीनों बोटिंग कर रहे होते हैं तो कमल पानी में गिर जाते हैं श्रीदेवी रजनीकांत को उन्हें बचाने के लिए कहती हैं लेकिन वो यह कहकर कमल को नहीं बचाते कि उन्हें तैरना नहीं आता।

कमल हासन के मरने के बाद श्रीदेवी के पास कोई ठिकाना नहीं रहता तो रजनीकांत श्रदेवी की मदद करने के लिए अपने घर के काम करने के लिए उन्हें अपने घर में ले आते हैं। फिल्म में रजनीकांत के पिता श्रीदेवी से काफी खुश होते हैं और उनकी शादी रजनीकांत से कराने की सोचते हैं तब तक श्रीदेवी को मालूम हो जाता है कि रजनीकांत को तैरना आता है उन्होंने जानबूझ कर कमल को मरने के लिए छोड़ दिया था।

फिल्म में टर्निंग पॉइंट तब आता है जब रजनीकांत श्रीदेवी से शादी की खबर सुनकर घर आते हैं तब तक श्रीदेवी उनके पिता से ही शादी कर लेती हैं और इस तरह श्रीदेवी फिल्म में रजनीकांत की सौतेली मां बन जाती हैं। इस तरह श्रीदेवी अपने प्रेमी की मौत का अनोखा बदला रजनीकांत से लेती हैं, जो अपने आप में एक बड़ी ही अनोखी और दिलचस्प कहानी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App