ताज़ा खबर
 

अर्जुन कपूर के लिए मां नहीं थीं श्रीदेवी, जाह्नवी और खुशी से भी नहीं है कोई लगाव

हिंदी सिनेमा की पहली महिला सुपरस्टार श्रीदेवी भले ही दुनिया को छोड़ कर चली गई हैं, लेकिन उनके जाने का गम परिवार वालों और फैंस को खूब सताएगा। एक्ट्रेस के अकस्मात निधन से हर कोई सन्न है, मगर उनकी सौतेली संतान अर्जुन कपूर को इससे कोई फर्क नहीं पड़ा।

बॉलीवुड एक्टर अर्जुन कपूर। (फोटोः फेसबुक)

हिंदी सिनेमा की पहली महिला सुपरस्टार श्रीदेवी भले ही दुनिया को छोड़ कर चली गई हैं, लेकिन उनके जाने का गम परिवार वालों और फैंस को खूब सताएगा। एक्ट्रेस के अकस्मात निधन से हर कोई सन्न है, मगर उनकी सौतेली संतान अर्जुन कपूर को इससे कोई फर्क नहीं पड़ा। कारण यह है कि बॉलीवुड एक्टर अर्जुन कपूर के लिए वह कभी भी मां नहीं थीं। अर्जुन न केवल एक्ट्रेस को बल्कि उनके बच्चों से भी कोई नाता नहीं रखते थे। ‘याहू’ की खबर के अनुसार, हाल ही अर्जुन से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने साफ किया कि उनकी जिंदगी में श्रीदेवी और उनकी बेटियों- जाह्नवी और खुशी कोई मायने नहीं रखती हैं। बकौल अर्जुन, “हम सच में नहीं मिलते हैं और न ही साथ में वक्त बिताते हैं, क्योंकि वे लोग मेरे लिए हैं ही नहीं।”

हाफ गर्लफ्रेंड स्टार के इस बयान से साफ है कि उन्हें श्रीदेवी और उनकी बेटियों से किसी प्रकार का लगाव नहीं है। हालांकि, वह अपनी दिवंगत मां मोना शौरी कपूर के काफी करीब थे। अर्जुन ने मां मोना के बारे में कहा, “मैं कैसे इस तथ्य से मेल बिठाऊं कि आज वह (मां) यह देखने के लिए नहीं हैं कि मैंने खुद की स्वतंत्र पहचान बनाई है। यह भी कि मैं एक घर चला रहा हूं। मैं बड़ा होकर वह बन चुका हूं, जो वह मुझे बनते देखना चाहती थीं।”

अर्जुन के मुताबिक, “मां ने जो भी त्याग मेरे लिए करे, उसके बदले में मैं यहां आज आपसे (रिपोर्टर) से बैठ कर बात कर रहा हूं। मैं चाहता था कि वह ये सब (मेरी तरक्की) देखें। मैं चाहता था कि मैं उन्हें बता सकूं कि वह मेरी वजह से गर्व महसूस कर सकती हैं।” आपको बता दें कि अर्जुन ने साल 2012 में फिल्म इशकजादे से फिल्मों में कदम रखा था, जिसके कुछ दिनों पहले ही उनकी असली मां गुजर गई थीं। हालांकि, मां के गुजरने के बाद उन्होंने खुद को कमजोर नहीं पड़ने दिया और अपनी सगी बहन अंशुला को अपनी ताकत बनाया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App