ताज़ा खबर
 

फूटा सुपरस्टार मोहन बाबू का गुस्सा, बोले- मोदी को 4 बार लिखी चिट्ठी, 95% नेता धूर्त

दक्षिण की फिल्मों के सुपरस्टार एम मोहन बाबू एक कार्यक्रम के दौरान देश की राजनीति को लेकर बेहद तल्ख नजर आएं और 95 फीसदी नेताओं को धूर्त करार दे दिया। उन्होंने नेताओं पर वायदे न निभाने का आरोप लगाया।

दक्षिण की फिल्मों के दिग्गज कलाकार मोहम बाबू की फाइल फोटो।

दक्षिण की फिल्मों के दिग्गज कलाकार एम मोहन बाबू एक कार्यक्रम के दौरान देश की राजनीति को लेकर बेहद तल्ख नजर आएं और 95 फीसदी नेताओं को धूर्त करार दे दिया। उन्होंने नेताओं पर वायदे न निभाने का आरोप लगाया और कहा कि अगर नेता अपने कहे पर अमल करते तो आज भारत बेहतर जगह होता। वह इंडिया टुडे कॉन्क्लेव साउथ 2018 के अहम सत्र डीएनए ऑफ एक्टिंग में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। मोहन बाबू ने यह भी कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उनसे एक बार मिले थे, तब लेकर अब तक वह प्रधानमंत्री कार्यालय को चार बार चिट्ठी लिख चुके हैं, लेकिन पीएम से उनकी मुलाकात नहीं हो पाई। उन्होंने कहा कि पीएम के अफसर रटा-रटाया जवाब देते हैं। इस कार्यक्रम में बतौर पेनलिस्ट मोहन बाबू की बेटी और दक्षिण की अदाकारा लक्ष्मी मंचू भी शामिल थीं।

लक्ष्मी ने कहा कि उनके पिता किंग नहीं हैं, बल्कि किंग मेकर की भूमिका में हैं। दक्षिण में मोदी की राजनीति के सफल होने के सवाल पर मोहन बाबू ने कहा कि अभी चुनाव को दो साल हैं, मोदी पास काम करने के लिए पर्याप्त समय है।

मोहन बाबू दक्षिण की फिल्मों में नायक और खलनायक दोनों की भूमिका में नजर आते रहते हैं। वह राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं। अपने राजनीतिक सफर के बारे में वह कहते हैं कि जब वह राज्यसभा में थे तो कुछ नेता उनसे कहते थे कि उन्होंने फिल्मों से पैसा बनाया है तो उन्हें राजनीति से पैसा बनाने दें। मोहन बाबू ने कहा कि वह क्लीन चिट के साथ राज्यसभा से निकल आए। मोहन बाबू जल्द ही 9 फरवरी को रिलीज हो रही तेलुगू फिल्म गायत्री में नजर आएंगे। फिल्म के पोस्टर में धांसू नजर आए थे। फिल्म का पहला पोस्टर जारी होने पर उनके कलाकार बेटे विष्णु मंचू ने कहा था कि उसके पिता भयंकर नजर आ रहे हैं। विष्णु भी इस फिल्म में अभिनय करते हुए दिखेंगे।

वहीं मोहन बाबू ने उस वक्त फैन्स का खासा ध्यान खींच लिया था कि जब बाहुबली 2 की सफलता के बाद उन्होंने प्रभाष को सलाह दे डाली थी कि उनकी (प्रभाष की) मां और उनकी इच्छा है कि वह इस साल शादी के बंधन में बंध जाएं।

बुधवार (18 जनवरी) को मोहन बाबू को टी सुब्बारामी रेड्डी के काकतीय ललित कला परिषद ने सिनेमा को दिए उनके योगदान को लेकर सम्मानित किया भी किया। दिग्गज अभिनेता ने इंडस्ट्री में 42 साल पूरे कर लिए हैं। उन्हें इस उलब्धि पर ‘विश्व नाता सार्वभौम’ की उपाधि से नवाजा गया। इस मौके पर कई पार्टियों के नेता और अभिनेता मौजूद थे। जयाप्रदा, जयासुधा, ब्रह्मानंदम, श्रिया सरन, अली, प्रज्ञा जैसवाल आदि ने इस कार्यक्रम में शिरकत की। तमिलनाडू और महाराष्ट्र के सी विद्यासागर राव इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App