ताज़ा खबर
 

सोनू सूद ने फिर जीता लोगों का दिल, कंधों पर हल रखकर खेत जोततीं गरीब परिवार की बेटियों के पास भेजा ट्रैक्टर

आंध्रप्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ने सोनू का आभार जताया। ट्वीटर पर बताया कि उन्होंने परिवार की दोनों बेटियों की शिक्षा का ध्यान रखने और उनके सपनों को पूरा करने में मदद करने का फैसला किया है। इस पर सोनू सूद ने उनको धन्यवाद दिया

Sonu sood, andhra pradesh, lockdownखेत में हल जोततीं नागेश्वर राव और पत्नी ललिता की बेटियां वेन्नेल और चांदना।

फिल्म अभिनेता सोनू सूद एक बार फिर अपनी दरियादिली से लोगों के दिलों में छा गए। इंटरनेट पर वायरल हो रहे एक वीडियो में आंध्र प्रदेश के चितूर की दो गरीब लड़कियों को अपने कंधों पर हल लेकर खेत जोतते देख उनका दिल पसीज उठा। यह देख उन्होंने फौरन परिवार को एक जोड़ा बैल भेजने का निर्णय लिया। बाद में उन्होंने तय किया कि बैल के बजाए ट्रैक्टर दिया जाना चाहिए। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि ट्रैक्टर शाम तक उनके घर पहुंच जाएगा। ट्रैक्टर मिलने पर परिवार बेहद खुश है। गरीब किसान लड़कियों की मदद पर सोशल मीडिया में लोग सोनू सूद की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

अपने कंधों पर हल रखकर खेत जोतने वाली लड़कियों का नाम वेन्नेल और चांदना है। उनके पिता नागेश्वर राव मदानपल्ली मंडल में पिछले 20 वर्षों से चाय की एक दुकान चलाते थे, लेकिन लॉकडाउन की वजह से उनकी दुकान बंद है और आय का कोई साधन नहीं है। इससे मजबूरन वे अपने गांव राजूवरिपल्ली लौट आए और खेती करने लगे।

सोनू सूद ने ट्विटर पर लिखा कि लड़कियों को अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने दीजिए। वह उन्हें एक जोड़ा बैल भेजवा देंगे। “कल सुबह उनके पास खेत जोतने के लिए एक जोड़ा बैल पहुंच जाएगा। किसान हमारे देश के लिए गौरव हैं। उनकी रक्षा करिए।” इसके ठीक बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया और लिखा, “इस परिवार के पास एक जोड़ा बैल नहीं, बल्कि उनके पास एक ट्रैक्टर होना चाहिए। इसलिए एक ट्रैक्टर भेज रहा हूं। शाम तक आपके खेतों में ट्रैक्टर जुताई कर रहा होगा। खुश रहिए।”

वायरल वीडियो में दोनों लड़कियां वेन्नेल और चांदना हल को खींचते हुए दिख रही हैं, यह काम आम तौर पर बैल या ट्रैक्टर से कराया जाता है। वीडियो में नागेश्वर राव और उनकी पत्नी ललिता लड़कियों के पीछे-पीछे टमाटर के खेत में बीज फेंकते हुए चल रहे हैं। वेन्नेल ने कहा, “हम लोग पिछले 15 वर्षों से मदानपल्ली में रह रहे हैं और चाय की एक दुकान चलाते हैं। लॉकडाउन की वजह से दुकान बंद करनी पड़ी और एक महीने से घर में पड़े हैं। हमारे पास पैसे नहीं हैं। मजबूरन हम अपने गांव लौट आए।”

चंद्रबाबू नायडू ने जताया आभार: ट्रैक्टर मिलने के बाद उनकी इस उदारता के लिए आंध्रप्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ने सोनू का आभार जताया। ट्वीटर पर उन्होंने परिवार की दोनों बेटियों की शिक्षा का ध्यान रखने और उनके सपनों को पूरा करने में मदद करने का फैसला किया है। इस पर सोनू सूद ने उनको धन्यवाद दिया और लिखा, “इन प्रेरणादायी शब्दों के लिए बहुत बहुत धन्यवाद सर। आपकी दयालुता सभी को आगे आने और जरूरतमंदों की मदद करने के लिए प्रेरित करेगी। आपके मार्गदर्शन में लाखों लोगों को अपने सपनों को हासिल करने का एक रास्ता मिल जाएगा। प्रेरणा देते रहो सर। मैं आपसे जल्द ही मिलने की उम्मीद करता हूं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सुशांत सिंह सुसाइड मामले में करण जौहर के मैनेजर को भेजा गया समन, महेश भट्ट से भी जल्द होगी पूछताछ
2 ‘आखिर आ ही गए अपने असली रूप में’, इस फोटो की वजह से ट्रोल हो रहे हैं जावेद अख्तर-शबाना आजमी
3 Netflix की टीम ने IAS अभिषेक सिंह को समझ लिया था एक्टर, वेब सीरीज Delhi Crime में ऐसे हुई थी कास्टिंग
ये पढ़ा क्या?
X