ताज़ा खबर
 

ये अटल बिहारी वाजपेयी वाली पार्टी नहीं रही- BJP को लेकर बोल पड़े शत्रुघ्न सिन्हा, बताया पार्टी छोड़ने का कारण

शत्रुघ्न सिन्हा ने बीजेपी को लेकर कहा कि अब यह पार्टी अटल बिहारी वाजपेयी वाली पार्टी नहीं रह गई है। इसके साथ ही एक्टर ने यह भी बताया कि उन्होंने बीजेपी में सालों रहने के बाद भी उसे क्यों छोड़ दिया?

कांग्रेस नेता और अभिनेता शत्रुघन सिन्हा। फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव

बॉलीवुड एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा ने सिनेमा के साथ-साथ राजनीति में भी अपनी जबरदस्त पहचान बनाई है। वह साल 2009 से लेकर 2019 तक पटना साहिब से लोकसभा सांसद रहे। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में शत्रुघ्न सिन्हा केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार नियोजन मंत्री भी रहे। लेकिन भाजपा में लंबे समय तक रहने के बाद एक्टर ने पार्टी को अलविदा कह दिया और कांग्रेस ज्वॉइन कर ली। वहीं हाल ही में ‘सीधी बात’ कार्यक्रम के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने बताया कि उन्होंने भाजपा को क्यों छोड़ा? इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी को लेकर कहा कि अब यह पार्टी अटल बिहारी वाजपेयी वाली पार्टी नहीं रह गई है

दरअसल, शत्रुघ्न सिन्हा से पत्रकार प्रभु चावला ने सवाल किया, “आपको टिकट नहीं दिया गया, इसलिए आप उस तरफ चले गए, जिसके खिलाफ आप सैद्धांतिक रूप से 35 साल तक लड़ते रहे? क्योंकि लोग तो यही समझेंगे कि आप टिकट के लिए पार्टी छोड़कर चले गए?”

प्रभु चावला के इन सवालों को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा ने जवाब दिया, “मैंने कहा था कि स्थिति कुछ भी हो, जगह वही होगी। मैं इसलिए नहीं गया था कि मुझे टिकट नहीं मिली। मैंने फैसला किया था कि लड़ूंगा तो वहीं से लड़ूंगा। मैंने यह भी कहा था कि व्यक्ति से बड़ी पार्टी और पार्टी से बड़ा देश होता है।”


शत्रुघ्न सिन्हा ने इस मामले पर आगे कहा, “जिस पार्टी का देश की आजादी में सबसे ज्यादा योगदान रहा है। जिस पार्टी में जवाहरलाल नेहरू से लेकर महात्मा गांधी तक बड़े-बड़े लोग रहे हैं। मुझे बिल्कुल भी सत्ता का लालच नहीं था। उस पार्टी में रहकर भी मैंने बहुत कुछ किया, जब तक कर सका।”

शत्रुघ्न सिन्हा ने भाजपा छोड़ने का कारण बताते हुए कहा, “लेकिन जब मुझे लगा कि ये पार्टी वो पार्टी नहीं रही, अब ये पार्टी अटल बिहारी वाजपेयी वाली पार्टी नहीं रही। अब इस पार्टी में प्रोपेगेंडा ज्यादा चल रहा है। धनशक्ति का दुरुपयोग ज्यादा हो रहा है। कुछ लोगों ने पार्टी को घेर लिया है और घेरने की कोशिश की।”

शत्रुघ्न सिन्हा ने इंटरव्यू में आगे कहा, “इस पार्टी ने तमाम इंस्टीट्यूशन को अपने हाथ में लेने की कोशिश की, जिसमें मीडिया भी शामिल है। उसके बाद हमें लगा कि अब तो बहुत हो गया। अगर उन्होंने वहां से टिकट दिया होता तो मेरा स्टाइल तो वहीं होता ‘व्यक्ति से बड़ी पार्टी और पार्टी से बड़ा देश’।”

Next Stories
1 इंडस्ट्री में आना मेरी मर्जी नहीं थी- एक्ट्रेस नहीं एयर होस्टेस बनना चाहती थीं रेखा, इसलिए चुनना पड़ा एक्टिंग का रास्ता
2 क्या फायदा होता है इन सबसे? धर्मेंद्र खुद की जिंदगी पर नहीं लिखना चाहते कोई किताब, इंटरव्यू में बताई ये वजह
3 ऋषि कपूर ने बेटे रणबीर को इस व्यक्ति से शादी करने की दी थी सलाह, मरने से पहले पूरी करना चाहते थे ये इच्छा
ये पढ़ा क्या?
X