ताज़ा खबर
 

…रामायण से मिले तो अब भी बेटी सोनाक्षी का नाम बदल सकते हैं शत्रुघ्न सिन्हा

जहां वो स्टूडेंट्स को बता रहे थे कि अपनी असली पहचान कभी खोने मत देना वहीं उन्होंने कहा बहुत से लोग मुझे फॉलो करते हैं। इसपर दर्शक में से एक ने कहा हां कपिल शर्मा।

jaipur literature festival, jaipur literature festival 2016, shatrughan sinha, Jaipurभाजपा सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा। (Photo-PTI/File)

हिंदू कॉलेज की सहिंता, भाषा, साहित्य और सांस्कृतिक समिति ने एक वार्षिक कार्यक्रम अल्फाज का आयोजन किया। स्पीकर के तौर पर यूपीएससी 2014 की टॉपर इरा सिंघल और भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा मौजूद थे। इस कार्यक्रम में लोक गायिका मालिनी अवस्थी की परफॉर्मेंस देखने को मिली। लेकिन इस कार्यक्रम का हाइलाइट रहे एक्टर और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा। उनका तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वागत किया गया जिसके बाद उन्होंने जोर से कहा खामोश।

स्टूडेट्स को अपना ज्ञान देते हुए सिन्हा ने कहा कि यह बहुत जरूरी है कि आप अपने इंटरेस्ट और कौशल को ध्यान में रखते हुए किसी क्षेत्र का चुनाव करें। किसी भी स्टूडेंट पर उस सब्जेक्ट को लेकर दबाव नहीं बनाया जाना चाहिए जिसमें उसकी दिलचस्पी ना हो। मेरा ही उदाहरण ले लो, मैं पटना साइंस कॉलेज में था, और और मैं क्लास से ज्यादा नोटिस बोर्ड के पास या कैंटीन में मिलता था। मुझे याद है नोटिस केवल मेरे लिए लगाए जाते थे। मेरे अंदर एक साइंस स्टूडेंट की तरह रुझान नहीं था। मैं खून नहीं देख पाता था, तो मेरी एक टीचर ने कहा कि तुम निकलो यहां से। एफटीआईआई में तब एक कोर्स निकला था एक्टिंग का, मैंने वहां एप्लाई किया और मेरा सेलेक्शन हो गया। मैं कंपाउंडर बनने के लायक नहीं था और मेरे पिताजी मुझे डॉक्टर बना रहे थे। मैं आपको यह बात इसलिए बता रहा हूं क्योंकि मैं चाहता हूं कि आप जो भी करें उसमें ध्यान दें। मैं मन की बात नहीं करता हूं, वो कोई और करते हैं, मैं बस दिल की बात करता हूं।

जहां वो स्टूडेंट्स को बता रहे थे कि अपनी असली पहचान कभी खोने मत देना वहीं उन्होंने कहा बहुत से लोग मुझे फॉलो करते हैं। इसपर दर्शक में से एक ने कहा हां कपिल शर्मा। सिन्हा ने कहा- हां, वो कुछ ज्यादा करता है, उतना तो मैं हाथ चलाता भी नहीं हूं। पर अगर मुझे फॉलो करके किसी की रोटी चलती है तो क्या गलत है। सिन्हा ने स्टूडेंट्स को बताया कि वो चार भाई हैं- राम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न। और मुंबई के जिस बंग्ले में वो रहते हैं उसका नाम रामायण है।

एक स्टूडेंट ने एक्टर से पूछा आपके बेटों के नाम लव कुश, आपको भाई राम, लक्ष्मण और भरत। तो आपने इसी ट्रेंड को सोनाक्षी के लिए क्यों नहीं अपनाया? इसपर सिन्हा ने कहा- हमने बहुत कोशिश की। पर कुछ मिला ही नहीं। लव कुश ट्विंस थे तो मनोज कुमार और हेमा मालिनी ने कहा लव कुश नाम रख दो। लेकिन इससे पहले हम कुछ रखते मीडिया ने अखबारों में प्रिंट कर दिया। पर सोनाक्षी के लिए कुछ नहीं मिला। मेरी पत्नी चाहती थी कि उसका नाम मेरे नाम पर हो इसलिए सोनाक्षी रख दिया। आप लोगों को भी अभी कोई नाम मिले तो बता देना, मैं सोच लूंगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अपनी मौत की अफवाह पर खुद फरीदा जलाल ने दी सफाई- बंद करो शरारत, मैं जिंदा हूं
2 ‘न्यूटन’ ने ‘बर्लिन फिल्म महोत्सव’ में कला सिनेमा का सम्मान जीता
3 मधुर भंडारकर ने कहा- युवाओं को आपातकाल के 21 महीनों के बारे में बताएगी इंदु सरकार
ये पढ़ा क्या?
X