माटी के सच्चे सपूत का बिहार कर रहा इंतज़ार- लालू यादव की जमानत पर बोले शत्रुघ्न सिन्हा, PM मोदी से किया सवाल

लालू यादव को दुमका कोषागार मामले में जमानत मिलने पर एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा का रिएक्शन आया है। उन्होंने ट्वीट कर अपनी खुशी जाहिर की है।

Fodder Scam, Lalu Prasad Yadavलालू प्रसाद यादव 2017 में चारा घोटाला से जुड़े मामले में सजा पाने के बाद से ही रांची की जेल में बंद कर दिए गए थे। (एक्सप्रेस आर्काइव)

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को 900 करोड़ रुपये के चारा घोटाले के तीन मामलों में जमानत मिल गई है। बता दें, फिलहाल लालू यादव का एम्स में इलाज चल रहा है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री की जमानत को लेकर लगातार सोशल मीडिया पर रिएक्शन आ रहे हैं। हाल ही में बॉलीवुड एक्टर और कांग्रेस पार्टी के नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने लालू यादव की रिहाई पर ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

इस ट्वीट में शत्रुघ्न सिन्हा ने लालू यादव की जमानत पर खुशी जाहिर करते हुए लिखा, “बहुत अच्छी खबर, हमारे दोस्त, एक और केवल एक, मिट्टी के बेटे और एक सच्चे जन नेता लालू यादव को माननीय कोर्ट द्वारा जमानत दी गई है। हम सभी खुश और प्रसन्न हैं। स्वागत है लालूजी! सामान्य तौर पर बिहार में और विशेष रूप से हम, आपको बहुत पसंद करते हैं। आपकी प्रशंसा और प्यार करते हैं।”

शत्रुघ्न सिन्हा केवल यही नहीं रुके। उन्होंने लालू यादव की प्रशंसा में एक और ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने लिखा, “बिहार आपके नेतृत्व के लिए तत्पर है। इसे कहते हैं न्याय और दिव्य न्याय। भगवान आपका भला करें।” इसी के साथ शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा। उन्होंने पीएम से सवाल करते हुए लिखा, “आभार के दृष्टिकोण से जानना चाहता हूं कि क्या यह सही है कि हमारे दोस्त और रिटायर्ड इलेक्शन कमीशनर और सबसे ज्यादा विवादस्पद सुनील अरोड़ा को गोवा की गवर्नरशिप से पुरस्कृत किया गया है।”

 

शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे लिखा, “जैसा की अपेक्षित था? क्या यह सच है? वाह! बढ़िया खबर! अगली बारी किसी है सर? कोई भी एससी से इसका जवाब दे सकता है।” शत्रुघ्न सिन्हा के इन दोनों ट्वीट पर लोग खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

बता दें, राजद प्रमुख लालू यादव को दुमका कोषागार मामले में जमानत मिली है। यह मामला बिहार में 90 के दशक का है। 1991 से 1996 के बीच जब लालू यादव मुख्यमंत्री थे, तो पशुपालन विभाग के अधिकारियों ने दुमका कोषागार से 3.5 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की थी। अब इस मामले में लालू प्रसाद यादव को जमानत मिल गई है। हाई कोर्ट में जमानत याचिका यह कहते हुए दायर की गई थी कि लालू यादव ने मामले में आधी सजा पूरी कर ली है इसलिए उन्हें जमानत दी जाए। इस दौरान लालू यादव के खराब स्वास्थ्य का भी हवाला दिया गया था।

 

Next Stories
1 जब कपिल शर्मा के अनुरोध पर पंकज त्रिपाठी ने किया बिहार का लौंडा नाच, बीच में नवजोत सिंह सिद्धू के मजे भी लिए
2 जब राजेश खन्ना को एक दिन पहले ही जन्मदिन की बधाई देने पहुंच गए थे अमिताभ बच्चन, जानिये फिर क्या हुआ था
3 सभी CM इस्तीफ़ा देकर गद्दी मोदी जी को सौंप दें- बोले पुण्य प्रसून बाजपेयी तो यूजर्स देने लगे ऐसा रिएक्शन
यह पढ़ा क्या?
X