ताज़ा खबर
 

शम्मी कपूर के बाद अब ओम पुरी की अंतिम यात्रा में भी व्हील चेयर से पहुंचे शशि कपूर, जानिए क्यों अपने पैरों से नहीं चल पाते

अपने दौर के दिग्गज अभिनेता शशि कपूर ओम पुरी की अंतिम यात्रा के दौरान व्हील चेयर से पहुंचे। उन्होंने अपनी चेयर पर बैठे-बैठे ही हाथ जोड़कर सभी का अभिवादन किया। 78 साल के शशि कपूर काफी लंबे समय से व्हीलचेयर पर हैं।

Author नई दिल्ली | January 7, 2017 7:36 AM

अपने दौर के दिग्गज अभिनेता शशि कपूर ओम पुरी की अंतिम यात्रा के दौरान व्हील चेयर से पहुंचे। उन्होंने अपनी चेयर पर बैठे-बैठे ही हाथ जोड़कर सभी का अभिवादन किया। 78 साल के शशि कपूर काफी लंबे समय से व्हीलचेयर पर हैं। वे इसी कंडीशन में जरूरी कामों में शिरकत करते हैं। दरअसल, शशि कपूर गुर्दे की समस्या से पीड़ित हैं, जिस कारण वे अपने पैरों से चल फिर नहीं सकते। लेकिन जब भी किसी करीबी की अंतिम यात्रा हो या फिर किसी तरह का जरूरी कार्यक्रम वे वहां शिरकत करने जरूर पहुंचते हैं। बता दें कि बीते साल ही शशि कपूर को प्रतिष्ठित दादा साहेब फाल्के सम्मान से नवाजा गया था। इस दौरान भी वे अपनी व्हील चेयर पर ही अवॉर्ड लेने पहुंचे थे। उन्हें मुंबई के पृथ्वी थिएटर में आयोजित समारोह में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने हिन्दी सिनेमा जगत का सबसे बड़ा सम्मान दिया था। हालांकि इससे पहले शशि कपूर को यह सम्मान दिल्ली में राष्ट्रीय पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान दिया जाना था, लेकिन उनकी खराब सेहत को देखते हुए उन्हें मुंबई में यह पुरस्कार दिया गया। हिन्दी सिनेमा में 175 फिल्मों में काम कर चुके शशि कपूर को 2011 में ‘पद्म भूषण’ से भी नवाजे जा चुके हैं।  शशि कपूर लंबे वक्त से व्हील चेयर पर हैं और वे इसी स्थिति में अपने भाई शम्मी को अंतिम विदाई देने श्मशान घाट पहुंचे थे। शम्मी कपूर ने 14 अगस्त 2011 को दुनिया को अलविदा कहा था। अमिताभ बच्चन ने शम्मी की अर्थी को कंधा दिया था। लेकिन अपनी बीमारी के चलते शशि कपूर उन्हें कंधा नहीं दे पाए। आपको बता दें कि शशि कपूर फिल्म इंडस्ट्री का वो नाम है जिसने हिंदी सिनेमा को कई स्टार्स दिए हैं। उनके बेटे का नाम है कुणाल कपूर और पोती आलिया कपूर। इनके अलावा शशि कपूर के पोते और पोतियों में  करीना, करिश्‍मा और रणबीर कपूर अक्षय कुमार, लारा दत्‍ता, गोविंदा और करिश्‍मा जैसे सितारों का नाम भी आता है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App