ताज़ा खबर
 

शक्ति कपूर की बदनामी से भाई को भी होना पड़ता था शर्मिंदा, लड़कियां देती थी सजा

शक्ति कपूर ने यह रेड कोर्ट तीन बार पहना था जिसकी वजह से वह स्कूल में सबसे शरारती स्टूडेंट माने जाने लगे थे।
बॉलीवुड एक्टर शक्ति कपूर।

शक्ति कपूर बॉलीवुड में खलनायकों के सरताज माने जाते थे। फिल्मों में अक्सर विलेन के किरदार करते-करते शक्ति कपूर को लोग असल जिंदगी में भी वैसा ही समझने लगे थे। लेकिन कम ही लोग जानते हैं कि शक्ति कपूर असल जिंदगी में भी काफी बदनाम थे। यहां तक कि उनकी बदनामी की वजह से छोटे भाई को भी शर्मिंदगी उठानी पड़ती थी। उस दौरान लड़कियां शक्ति कपूर को सबके सामने सजा देती थी। चलिए बताते हैं आखिर क्या था पूरा मामला।

दरअसल यह वाकया उन दिनों का है जब शक्ति कपूर स्कूल में पढ़ते थे। स्कूल के दिनों से शक्ति काफी शरारती स्टूडेंट थे। शक्ति कपूर की शरारते इतनी ज्यादा होती थीं कि उनके शरारतीपन की वजह से उन्हें एक या दो नहीं बल्कि तीन स्कूलों से निकाला गया था। स्कूल के दिनों में जब सजा मिलती थी तो वह उसे मजे के तौर पर लेते थे और गर्व समझते थे।

शक्ति कपूर चौथी बार जिस स्कूल में पढ़ने के लिए गए थे उस स्कूल में शरारती स्टूडेंट्स को सुधारने का अलग तरीका था। स्कूल में प्रार्थना के दौरान जब सभी स्टूडेंट्स स्टेज के सामने इकट्ठा होते थे उसी समय सबसे शरारती बच्चे को एक लड़की लाल रंग का कोर्ट पहनाती थी और उस शरारती बच्चे को वह कोर्ट पूरा दिन पहनना होता था।

शक्ति कपूर को यह सजा स्कूल में फेमस होने का अच्छा तरीका लगा। इसलिए शक्ति कपूर जानबूझकर शरारत करते थे और वह रेड कोर्ट पहनते थे। शक्ति कपूर ने यह रेड कोर्ट तीन बार पहना था जिसकी वजह से वह स्कूल में सबसे शरारती स्टूडेंट माने जाने लगे थे। इसी के साथ शक्ति कपूर स्कूल में काफी फेमस हो गए थे उन्हें हर कोई पहचानने लगा था लेकिन उनके छोटे भाई को इस वजह से काफी शर्मिंदगी उठानी पड़ती थी।

शक्ति कपूर के छोटे भाई उसी स्कूल में पढ़ते थे और बाकी स्टूडेंट उन्हें चिढ़ाते थे। शक्ति कपूर की शरारतों से तंग आकर छोटे भाई ने जब उन्हें यह कि तुम्हें इस तरह बदनाम होकर शर्म नहीं आती, मुझे सब चिढ़ाते हैं तब शक्ति कपूर ने जवाब में कहा कि भाई तुझे तो गर्व होना चाहिए क्योंकि मैं स्कूल में सबसे ज्यादा पॉपुलर हूं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.