ताज़ा खबर
 

शाहरुख खान ने बताया, महिलाओं के साथ ज्यादा कंफर्टेबल महसूस करता हूं

शाहरुख ने खुद कहा है कि वह पुरुषों से ज्यादा महिलाओं के साथ कंफर्टेंबल महसूस करते हैं। लेकिन यहां वो केवल रोमांस की ही बात नहीं कर रहे थे।

raees, shah rukh khan, mahira khan, shah rukh khan raees, raees new song, raees new still, raees kite flying, shah rukh mahira romance, mahira raees, indian express, indian express news, entertainment newsशाहरुख खान और माहिरा खान

शाहरुख खान को रोमांस का किंग कहा जाता है। चाहे शानदार लोकेशन हो या कोई गली मोहल्ला जहां किंग खान आ जाते वहां रोमांस का जादू अपने आप बिखर जाता है। हर बॉलावुड एक्ट्रेस का सपना होता है कि वह किंग खान के साथ काम करे। शाहरुख ने खुद भी कहा है कि वह पुरुषों से ज्यादा महिलाओं के साथ कंफर्टेंबल महसूस करते हैं। लेकिन यहां वो केवल रोमांस की ही बात नहीं कर रहे थे। वह समझते हैं कि महिलाओं ने उनकी जिंदगी में एक अहम रोल निभाया है। यह बात केवल उनका असल जिंदगी में ही नहीं बल्कि फिल्मों पर भी फिट बैठती है। यहां तक कि उनकी जल्द आने वाली फिल्म रईस में भी महिला का किरदार अहम है। इस फिल्म में शाहरुख एक डॉन के रोल में नजर आ रहे हैं।

शाहरुख कहते हैं, छोटी उम्र में ही मैंने अपने पिता को खो दिया था। मैं अपनी मां के काफी करीब था। मुझे लगता है कि शायद बच्चे मां के ज्यादा करीब होते हैं। मुझे एक ऐसी महिला ने बड़ा जो किया जो एनर्जी से भरपूर, प्रैक्टिकल और बेहर खूबसूरत थीं। मेरी जिंदगी पर मेरी मां का गहरा असर है। मैं महिलाओं के साथ बहुत समय बिताता हूं। अपनी मां के परिवार में अकेला लड़का हूं। उनके परिवार में चार बहने हैं। उनमें भी किसी का पहले बेटा नहीं था। तो ऐसे में मैं ही उन सबके साथ था। मेरे दादा जी भी ज्यादा समय नहीं रहे उनकी मृत्यु हो गई थी। इसलिए मैं बेंगलुरू में अपनी मां के परिवार को जानता हूं। कमाल की बात ये है कि मैं एक बॉय स्कूल में पढ़ने गया। यह मेरे लिए थोड़ा अलग एक्सपीरियंस था। जब शादी हुई तो एक बेटी हुई और मेरी जिंदगी में नई महिलाओं की एंट्री हुई।

शाहरुख महिलाओं के प्रति एक अलग तरह की सेंसिटिविटी दिखाते हैं। उनकी यह क्वालिटी उन्हें महिलाओं का फेवरेट बनाती है। जब शाहरुख से कंफर्ट लेवल और महिलाओं को समझने वाली उनकी खासियत के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, मुझे नहीं पता कि मैं यह दावा कर सकता हूं कि मैं महिलाओं को ज्यादा समझता हूं। लेकिन यह कह सकता हूं कि मैं महिलाओं के साथ ज्यादा कंफर्टेबल महसूस करता हूं। मुझे उम्मीद है कि यह बात गलत नहीं लगेगी। यह बात जिंदगी के हर छोटे-छोटे काम से जुड़ी है जैसे कि बेटी सुहाना के साथ मैच देखना।

शाहरुख ने कहा, मैं महिलाओं से दोस्ती करने में कमजोर हूं। लेकिन मेरे अंदर एक नॉर्मल्सी है जो मुझे लगता है कि आपको हर महिला को देनी चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 एयरपोर्ट के अंदर जा रहे थे दीपिका पादुकोण के हीरो विन डीजल, भीड़ से कोई चिल्लाया ‘ए टकले’
2 हुमा कुरैशी और गौहर खान के इस रिश्ते को क्या नाम देंगे आप, देखें वीडियो
3 जॉली एलएलबी का गाना जॉली गुडफेलो रिलीज, अक्षय कुमार की बेटी नितारा की वजह से फिल्म में आया ये गाना
कोरोना टीकाकरण
X