ताज़ा खबर
 

Kedarnath को रिलीज के साथ ही लगा झटका, उत्तराखंड में बैन हुई फिल्म

उत्तराखंड पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने ‘केदारनाथ’ को राज्य में बैन होने की जानकारी दी है। एक राज्य में फिल्म के बैन होने के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि फिल्म की कमाई पर असर पड़ सकता है।

केदारनाथ फिल्म का एक पोस्टर।

Kedarnath: सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान स्टारर फिल्म ‘केदारनाथ’ 7 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। फिल्म की रिलीज के साथ ही मेकर्स को बड़ा झटका लगा है। उत्तराखंड पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने ‘केदारनाथ’ को राज्य में बैन होने की जानकारी दी है। एक राज्य में फिल्म के बैन होने के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि फिल्म की कमाई पर असर पड़ सकता है।

मंत्री ने न्यूज एंजेसी एएनआई को दिए बयान में कहा, ”कमेटी से हमारी सलाह को सीएम तक पहुंचा दिया है और निर्णय लिया है कि कानून और व्यवस्था की समीक्षा की जानी चाहिए। हमने जिला मजिस्ट्रेट से शांति बनाए रखने के लिए कहा है। सभी लोगों ने फैसला किया है कि ‘केदारनाथ’ को बैन किया जाना चाहिए। राज्य में हर जगह फिल्म पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।” पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने ‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम को लेकर आज खुलकर आपत्ति जताई है।

सतपाल महाराज ने कहा, ”मुझे ‘केदारनाथ’ फिल्म के नाम से भी आपत्ति है। फिल्म के निर्माता-निर्देशक को फिल्म का नाम कुछ और रखना चाहिए था।” सतपाल महाराज ने सलाह दी कि फिल्म का नाम ‘कयामत और प्यार’ रख देते। मंत्री ने कहा कि केदारनाथ हमारे आराध्य हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी आराध्य है।

फिल्म ‘केदारनाथ’ में सारा अली खान ने एक हिंदू लड़की का रोल अदा किया है तो वहीं सुशांत सिंह राजपूत एक मुस्लिम लड़के का किरदार निभाया है। फिल्म में प्यार को मुकाम तक पहुंचाने के लिए दोनों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। दरअसल हिंदू परिवार से ताल्लुक रखने के कारण सारा के परिवार वाले सुशांत के रिश्ते को अपनाने के लिए राजी नहीं होते हैं। फिल्म को क्रिटिक्स ने मिली-जुली प्रतिक्रियाएं दी हैं। फिल्म को लेकर ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि केदारनाथ ओपनिंग डे पर 5-6 करोड़ रुपए की कमाई कर सकती है। फिल्म का बजट करीब 35 करोड़ रुपए का बताया जाता है।

2.0 के आगे बॉक्सऑफिस पर फीका पड़ा सुशांत और सारा का रोमांस! इंटरनेट पर मजे ले रहे यूजर्स

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App