ताज़ा खबर
 

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ के 2018 तक टलने की खबर निकली गलत! जानें क्या है सच्चाई?

तरण ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा- ब्रेकिंग न्यूजः पद्मावती पोस्टपोन नहीं हो रही है... ना ही इसे 2018 के लिए शिफ्ट किया जा रहा है... वॉयकॉम18 मोशन पिक्चर्स की यह फिल्म 17 नवंबर 2017 को ही रिलीज होगी।

Author नई दिल्ली | April 14, 2017 1:23 PM
फिल्म का इंतिजार कर रहे फैन्स के लिए यह अपने आप में बड़ी खबर है। बता दें कि फिल्म में दीपिका पादुकोण रानी पद्मिनी की किरदार में होगी, इसके अलावा शाहिद कपूर और रणवीर सिंह भी अहम भूमिकाओं में होंगे।

संजय लीला भंसाली निर्देशित एपिक अपकमिंग फिल्म ‘पद्मावती’ से जुड़े विवाद थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। जयपुर और कोल्हापुर में शूटिंग सेट पर हमले, और कथित करणी सेना द्वारा निर्देशक को थप्पड़ मारे जाने के बाद हाल ही में भंसाली को यह धमकी दी गई कि यदि फिल्म में कुछ भी आपत्तिजनक देखने को मिला तो उन्हें अंजाम भुगतना पड़ेगा। इन सब विवादों के बीच ऐसी खबरें भी आने लगीं कि फिल्म की शूटिंग में हो रहा लगातार देरी के चलते फिल्म की रिलजी डेट प्रभावित होगी और अब इस फिल्म को अगले साल यानि 2018 में रिलीज होगी। इस बारे में ट्रेड एनालिस्ट तरण आदर्श ने गुरुवार को सफाई दी और बताया कि ऐसा कुछ भी होने नहीं जा रहा है।

तरण ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा- ब्रेकिंग न्यूजः पद्मावती पोस्टपोन नहीं हो रही है… ना ही इसे 2018 के लिए शिफ्ट किया जा रहा है… वॉयकॉम18 मोशन पिक्चर्स की यह फिल्म 17 नवंबर 2017 को ही रिलीज होगी। फिल्म का इंतिजार कर रहे फैन्स के लिए यह अपने आप में बड़ी खबर है। बता दें कि फिल्म में दीपिका पादुकोण रानी पद्मिनी की किरदार में होगी, इसके अलावा शाहिद कपूर और रणवीर सिंह भी अहम भूमिकाओं में होंगे। डीएनए की रिपोर्ट के मुताबिक करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कल्वि ने डेक्कन क्रॉनिकल्स को बताया- यदि पद्मावती फिल्म में कोई आपत्तिजनक सीन जोड़ा गया तो देश इसे कत्तई बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने बताया कि किस तरह उनके जैसे समुदाय आरक्षण के प्रति लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा- महाराष्ट्र में मराठा, गुजरात में पाटीदार आरक्षण की मांग कर रहे हैं। हम ऐसे समुदायों के साथ हाथ मिलाने जा रहे हैं, ताकि सरकार को हमारी मौजूदगी का अहसास हो।

लोकेंद्र ने कहा- हम नहीं कह रहे कि आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाना चाहिए। अभी हम आरक्षण पर पुनर्विचार किए जाने की मांग कर रहे हैं, ताकि मालूम किया जा सके कि समुदायों को इससे फायदा हो और उन लोगों के बारे में पता किया जा सके जो इससे वंचित रह गए हैं। गौरतलब है कि पद्मावती की शूटिंग किए जाने के बाद से अब तक कई बार शूटिंग शेट पर हमलों की घटनाएं हो चुकी हैं। पहला हमला जयपुर और दूसरा कोल्हापुर में किया गया। सबसे पहले जयपुर में करणी सेना द्वारा हमला किया गया था और जब लगा कि सब शांत हो गया है तो फिर उसी सेना ने कोल्हापुर में हमला कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App