ताज़ा खबर
 

क्या पेगासस-पेगासस लगा रखा है, असली पेगासस तो कांग्रेस पार्टी है- बोले संबित पात्रा तो भड़क गईं कांग्रेस प्रवक्ता; हुई तीखी बहस

डिबेट में रागिनी नायक पर भड़कते हुए संबित पात्रा ने कहा कि क्या पेगासस- पेगासस लगा रखा है, असली पेगासस तो कांग्रेस पार्टी है। उनकी इस बात पर रागिनी भड़क गईं और उन्होंने अमित शाह पर निशाना साधा।

कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक और बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

पेगासस जासूसी प्रकरण को लेकर कांग्रेस बीजेपी पर हमलावर है। इस जासूसी प्रकरण में यह दावा किया जा रहा है कि राहुल गांधी के दो फोन नंबर की जासूसी की गई और उनके स्टाफ के फोन को भी निगरानी में रखा गया। कांग्रेस पार्टी की तरफ से इस जासूसी प्रकरण के लिए गृह मंत्री अमित शाह से इस्तीफे की मांग की गई है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस सोशल मीडिया के जरिए भी बीजेपी को घेरने में लगी है तो वहीं टीवी डिबेट्स में पार्टी के प्रवक्ता सत्ताधारी पार्टी पर निशाना साध रहे हैं। इसी मुद्दे पर बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा और कांग्रेस की प्रवक्ता रागिनी नायक के बीच तीखी बहस हो गई।

आज तक के डिबेट शो दंगल पर रागिनी नायक ने संबित पात्रा को घेरते हुए कहा, ‘आज आप अपने देश की सुरक्षा पर ही प्रहार करने पर लगे हुए हैं। मुझे ये तो बता दीजिए वो तड़ीपार और माफिया का सरगना मोदी आखिर जासूसी क्यों करवा रहे थे एक महिला की गुजरात में? और उसके बाद 92 हज़ार लोगों की जासूसी करवा दी।’

उनकी बातों के बीच संबित पात्रा भी लगातार बोले जा रहे थे, ‘पेगासस.. पेगासस ये असली पेगासस तो यही है.. कांग्रेस पार्टी.. पेगासस। अरे किसको..आप कुछ भी अमित शाह को बोलते रहिए। अमित शाह जी ने जो पानी पिलाया है न, पानी पिलाकर पिलाकर कांग्रेस को भगाया है..आप उनको कितनी भी गाली दे दो, उससे कुछ नहीं होने वाला है।’

 

रागिनी नायक उनके बोलने के बीच बोले जा रही थीं, ‘ये तड़ीपार और माफिया मिलाकर आज पूरे देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। तड़ीपार और जासूसी माफिया।’

 

इसी डिबेट के दौरान रागिनी नायक ने कहा कि मोदी राज में बहुत सारी कहावतों और नारे के मायने बदल गए। जैसे कि अच्छे दिन को कहा जा रहा है महंगे दिन। मोदी है तो मुमकिन है को कहा जा रहा है मोदी है तो महंगाई है।

इसी दौरान उन्होंने यह भी कहा कि ऐसी ही एक बहुत पुरानी कहावत है चोर चोरी से जाए, हेरा फेरी से न जाए। अब इसे कहा जा रहा है कि मोदी अमित शाह स्नूपिंग से जाएं, सर्विलेंस से न जाएं।

Next Stories
1 मोदी सरकार पर बिफरे राहुल गांधी, बताया सत्य और संवेदनशीलता की कमी तो फिल्ममेकर पूछने लगे मतलब
2 चोर चोरी से जाए, हेरा फेरी से न जाए- कांग्रेस प्रवक्ता ने BJP को बताया ‘भारतीय जासूस पार्टी’ संबित पात्रा ने दिया ऐसा जवाब
3 राज कुंद्रा के समर्थन में उतरीं ‘गंदी बात’ फेम एक्ट्रेस गहना वशिष्ठ, कहा- वो अश्लील नहीं एरोटिक फिल्में थीं
ये पढ़ा क्या?
X