PM की कुर्सी होती है, चटाई नहीं कि सब बैठ जाएं, राहुल-ममता का नाम लेकर बोले संबित पात्रा, मिला ऐसा जवाब

ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे को लेकर आयोजित एक डिबेट कार्यक्रम में संबित पात्रा ने कहा कि पीएम की कुर्सी एक ही होती है, कोई चटाई नहीं है कि सभी बैठ जाएं। उन्होंने विपक्षी नेताओं का नाम लेकर कहा कि किसी एक को PM पद के लिए चुनना होगा।

sambit patra, narendra modi, mamata banerjee
संबित पात्रा ने कहा है कि PM की कुर्सी होती है, चटाई नहीं है जिस पर सब बैठ जाएं (Photo-File/ANI)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सोमवार को तीन दिवसीय दौरे पर दिल्ली पहुंचीं। मंगलवार को उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की जहां दोनों नेताओं के बीच कोरोना की स्थिति से लड़ने और वैक्सीन पर चर्चा हुई। ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री से मुलाकात से पहले कांग्रेस नेता कमलनाथ से मुलाकात की थी। बताया जा रहा है कि 2024 के चुनावों से पहले विपक्षी एकता को मजबूत करने के लिए ममता बनर्जी दिल्ली में सभी प्रमुख विपक्षी नेताओं के साथ टी-पार्टी भी रख सकती हैं। ममता बनर्जी के इसी दौरे पर आयोजित एक डिबेट कार्यक्रम में बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि पीएम की कुर्सी एक ही होती है, कोई चटाई नहीं है कि सभी बैठ जाएं।

आज तक के डिबेट शो ‘दंगल’ में संबित पात्रा ने कहा, ‘पीएम की कुर्सी होती है, पीएम की चटाई या बेंच नहीं होता है। कुर्सी में एक ही आदमी बैठ सकता है। ऐसा नहीं है कि ममता जी भी बैठेंगी, मायावती जी भी बैठेंगी, राहुल जी भी बैठेंगे, उद्धव जी भी बैठेंगे, शरद पवार जी भी बैठेंगे। ऐसा कोई बेंच नहीं है, कुर्सी ही होती है। इनको चुनना पड़ेगा, हमने कोई रोक नहीं लगाई।’

वो आगे बोले, ‘आप राहुल जी को चुन लीजिए या मायावती जी को चुन लीजिए, या ममता बनर्जी को चुन लीजिए.. हमने कोई रोक नहीं लगाई है, आप चुनिए। कोई चटाई नहीं बिछाई कि सब आकर बैठ जाएंगे।’

 

उन्होंने एनसीपी की प्रवक्ता विद्या चव्हाण पर निशाना साधते हुए कहा, ‘आपने कहा कि मोदी जी पसंद नहीं हैं हमें। मोदी जी कब पसंद थे आपको? 2012 में पसंद थे? 2013 में पसंद थे? जब पीएम बन गए तब भी पसंद नहीं थे। आपके पसंद या नापसंद से नहीं होता। जनता की पसंद और नापसंद का विषय है।’

 

उनकी बातों पर डिबेट के दौरान एनसीपी प्रवक्ता ने कहा, ‘पीएम पद की आपको इतनी क्यों पड़ी है? इतनी जल्दबाजी क्यों है आपको, जब लोगों को नहीं है? आप तो मोदी को बदल नहीं सकते, लेकिन हम लोग बैठ कर तय करेंगे अपना पीएम। वो हमारा अधिकार है। हम कोई डिक्टेटर नहीं हैं।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट