राहुल गांधी को बैंकॉक भेजिये- बोले संबित पात्रा तो भिड़ गए कन्हैया कुमार, कहा- कोविड में आप अपनी डिग्रियां लिए कहां घुम रहे थे?

‘एजेंडा आजतक’ में संबित पात्रा ने कहा कि मैंने ऑल इंडिया मेडिकल क्वालिफाई कर मेडिसिन किया। इसपर कन्हैया कुमार चुटकी लेने से पीछे नहीं हटे।

sambit patra, kanhaiya kumar
संबित पात्रा और कन्हैया कुमार में हुई जमकर बहस (फोटो सोर्स- आज तक वीडियो)

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार में आजतक के कार्यक्रम ‘एजेंडा आजतक’ में जमकर बहस हुई। दोनों ने एक-दूसरे की योग्यता पर सवाल खड़ा करने के साथ-साथ एक-दूसरे की पार्टियों पर भी जमकर हमला बोला। बहस के दौरान ही संबित पात्रा कांग्रेस नेता राहुल गांधी का भी मजाक उड़ाने लगे, जिसपर जवाब देने से कन्हैया कुमार भी पीछे नहीं हटे। उनकी इस तू-तू, मैं-मैं में हार मानकर न्यूज एंकर चित्रा त्रिपाठी को बीच बचाव करना पड़ा।

‘एजेंडा आजतक’ में कन्हैया कुमार ने संबित पात्रा को आईटीडीसी का चेयरमैन बनाए जाने पर हमला बोला, जिसका जवाब देते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा, “मैंने एमबीबीएस किया, मैंने एमएस किया, मैंने लंदन से एमआरसीएस किया और इसके बाद मैंने यूपीएससी में 19वीं रैंक हासिल की। ये डॉक्टरों की क्या बेइज्जती करते हैं। किसी ने मुझसे पूछा था कि आपने डोनेशन वाले कॉलेज से पढ़ाई की?”

संबित पात्रा ने अपनी बात को बढ़ाते हुए आगे कहा, “मैंने ऑल इंडिया मेडिकल क्वालिफाई करके मेडिसिन किया है, 20-20, 100-100 लोग क्वालिफाई करते हैं।” उनकी इस बात पर चुटकी लेते हुए कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार ने पूछा, “कहां क्लीनिक है आपका?” उनके सवाल से संबित पात्रा भड़क गए और बोले, ‘बीच में मत टोकिए।’

कन्हैया कुमार और संबित पात्रा की बहस यहीं नहीं रुकी। संबित पात्रा ने कांग्रेस नेता पर ‘हिंदुस्तान तेरे टुकड़े होंगे’ वाले नारे को लेकर तंज कसा, साथ ही राहुल गांधी को भी घेरा। संबित पात्रा ने कहा, “ये सब बोला जाएगा कि गृह मंत्री निकम्मा है? राहुल गांधी तो फॉरेन में पढ़ा है।” उनकी बात पर कांग्रेस नेता ने पूछा, “मिलना है आपको?”

वहीं संबित पात्रा ने बरसते हुए आगे कहा, “बैंकॉक भेजिए उन्हें।” उनकी बात का जवाब देते हुए कन्हैया कुमार ने कहा, “कोविड के दौरान 80 हजार रुपये में ऑक्सीजन का सिलेंडर बिक रहा था, सरकार का एक भी हेल्पलाइन काम नहीं कर रहा था और संबित पात्रा अपनी डॉक्टरी की डिग्री लेकर पता नहीं गायब थे। लोगों को दवाइयां नहीं मिल रही थीं, पूछिये कि कितने लोगों का इन्होंने इलाज किया।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।