डूब के मर जाना चाहिए था जब बोला गया ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई- भड़के कांग्रेस प्रवक्ता तो संबित पात्रा ने यूं दिया जवाब

पेगासस को लेकर संबित पात्रा और कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ में जमकर बहस हुई। संबित पात्रा ने तंज कसते हुए कहा कि मैं कहता हूं कि नहीं खरीदा गया पेगासस, मांगोगे माफी।

PM Modi Kashi Visit, up election
al media)

पेगासस का मामला थमता नजर नहीं आ रहा है। संसद से लेकर अब पेगासस सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को इसपर चर्चा करते हुए कहा कि अगर मीडिया रिपोर्ट सच है तो यह गंभीर मामला है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं से कंद्र को याचिका की प्रतियां देने के लिए भी कहा। मामले को लेकर आज तक के डिबेट शो में भी चर्चा की गई, जहां कांग्रेस प्रवक्ता और संबित पात्रा में भी जमकर बहस हुई। डिबेट में जहां संबित पात्रा ने कांग्रेस पर तंज कसा कि ये लोग संसद में कोरोना पर चर्चा नहीं होने दे रहे हैं तो वहीं कांग्रेस प्रवक्ता ने भी जवाब दिया कि आप लोगों को डूबकर मर जाना चाहिए था, जब कहा गया कि ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई।

दरअसल, अंजना ओम कश्यप के शो में कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ लगातार सवाल कर रहे थे कि सरकार ने पेगासस खरीदा या नहीं? इसके जवाब में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, “नहीं खरीदा और किसी की जासूसी नहीं हुई, माफी मांगोगे आप?”

संबित पात्रा ने विपक्ष पर तंज कसते हुए आगे कहा, “कहां ऑक्सीजन का प्लांट लगना है, किस-किस जिले को ऑक्सीन दिए जाएंगे, तीसरी लहर महाराष्ट्र और केरल में शुरू हो चुकी है। इन मामलों पर चर्चा होनी थी। गद्दार हैं वे लोग, जो इसपर चर्चा नहीं होने देंगे।”

संबित पात्रा का जवाब देते हुए कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने कहा, “आप माफी मांगने पर सवाल कर रहे हो, जाओ पहले रविशंकर प्रसाद जी की माफी लेकर आओ जिन्होंने संसद में कहा था कि देश में 100 से ज्यादा व्हॉट्सएप पर पेगासस का इस्तेमाल किया गया है। कोरोना पर जांच की बात कर रहे हो, शर्म नहीं आई आपको बोलते हुए।”


गौरव वल्लभ ने तंज कसते हुए कहा, “संसद में उस वक्त डूबकर मर जाना चाहिए था, जब यह कहा गया कि ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई। वहां जाकर झूठ बोलते हो आप। बीच में बोलकर आप अपनी नाकामियों से नहीं भाग सकते हो।”


कांग्रेस नेता के इस बयान का जवाब देने से संबित पात्रा भी पीछे नहीं हटे। उन्होंने कहा, “पाप करें आप और डूबकर मर जाएं हम। महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की कमी से कितने लोगों का देहांत हुआ, राजस्थान में कितने लोगों की मौत हुई। हताश कौन है यह हर कोई जानता है।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट