तेज़ बुखार में अमिताभ बच्चन को डायरेक्टर के घर लेकर पहुंच गए थे सलीम खान, ऐसे मिली थी फिल्म शोले

सलीम खान ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्होंने ही सबसे पहले शोले के लिए अमिताभ बच्चन का नाम दिया था। उनकी बात डायरेक्टर रमेश सिप्पी ने मान भी ली थी।

Dharmendra, Amitabh Bachchan
अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र, संजीव कुमार और अमजद खान (फाइल फोटो)

अमिताभ बच्चन और धर्मेंद्र स्टारर फिल्म ‘शोले’ साल 1975 में रिलीज हुई थी। ये फिल्म अमिताभ बच्चन के करियर में मील का पत्थर साबित हुई थी। लेकिन वह डायरेक्टर रमेश सिप्पी की पहली पसंद नहीं थे। इसका खुलासा खुद सलीम खान ने एक इंटरव्यू में किया था। सलीम खान ने बताया था कि उन्होंने ही अमिताभ का नाम डायरेक्टर रमेश सिप्पी के सामने सबसे पहले लिया था। हालांकि वह पहले अमिताभ को कास्ट करने को लेकर काफी संदेह की स्थिति में भी थे, लेकिन बाद में उन्हें मनाया था।

सलीम खान ने कोमल नहाटा के साथ बातचीत में बताया था, ‘अमिताभ ने कई फिल्मों में काम किया था, लेकिन इसमें से सभी फिल्मों ने अच्छा बिजनेस नहीं किया था। कुछ फिल्में चली थीं, लेकिन कुछ फ्लॉप भी हुई थीं। मेरी लिखी हुई फिल्म ज़ंजीर से उन्हें पहचान जरूर मिली थी, लेकिन अभी भी उन्हें खुद को स्थापित करना बाकि था। हम चाहते थे कि वो हमारी लिखी हुई फिल्म में काम करें। शुरुआत में रमेश सिप्पी साहब तो अमिताभ को जानते भी नहीं थे। हमने उन्हें एक स्पेशल शो रखा था औ र यहीं अमिताभ की मुलाकात करवाई थी।’

सलीम खान आगे कहते हैं, ‘शोल में अमिताभ का किरदार अपने आप में बहुत अलग था। क्योंकि उसे लिखते हुए हम लोगों ने बहुत सारी चीजों का ध्यान भी रखा था। अब जब हमने रमेश सिप्पी से अमिताभ को लेने के लिए कहा तो उन्हें भी लगा कि शायद ये सही कह रहे हैं क्योंकि हमने इससे पहले कई हिट फिल्में दे दी थीं। वो मान गए, लेकिन अमिताभ को ये पता लगना बाकि था। हम लोग तेज़ बुखार में ही अमिताभ को उठाकर रमेश सिप्पी साहब के घर ले गए। यहां हमने अमिताभ से कॉन्ट्रैक्ट साइन करवाया।’

कितनी मिली थी फीस: सलीम खान ने बताया था, ‘अमिताभ बच्चन को उस समय शोल करने के लिए एक लाख रुपए फीस मिली थी। ये कॉन्ट्रैक्ट भी हमारे सामने ही साइन हुआ था। जावेद साहब और मुझे वो शोले के लिए डेढ़ लाख रुपए दिए गए थे। ऐसा ही दीवार के समय भी हुआ था जब प्रोड्यूसर ने राजेश खन्ना को साइन करने का मूड बना लिया था। ये लगा लीजिए कि बस कॉन्ट्रैक्ट साइन ही हो चला था। लेकिन हमने अंत में जाकर अमिताभ बच्चन का नाम आगे कर दिया। उन्होंने हमारी बात भी मान ली। ऐसा बहुत सारे किस्से हैं जब हमने अमिताभ की किसी न किसी तरीके से मदद की।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अंग प्रदर्शन के अलावा बहुत कुछ दिखाने का पूनम पांडे का वादा