ताज़ा खबर
 

अगर आमिर की जगह अक्षय कुमार तुर्की गए होते तो कोई बहस ही नहीं होती- बोलीं सबा नकवी; ट्रोल्स करने लगे ऐसे कमेंट

वरिष्ठ पत्रकार सबा नकवी ने इस पूरे मामले में आमिर का बचाव करते हुए ट्वीट किया, जिसके बाद वे ट्रोल्स के निशाने पर आ गईं। सबा नकवी ने लिखा..

आमिर खान और अक्षय कुमार

अभिनेता आमिर खान के तुर्की दौर और वहां की फर्स्ट लेडी से मुलाकात को लेकर सियासी घमासान मच गया है। इस बीच वरिष्ठ पत्रकार सबा नकवी ने इस पूरे मामले में आमिर का बचाव करते हुए ट्वीट किया, जिसके बाद वे ट्रोल्स के निशाने पर आ गईं। सबा नकवी ने लिखा, ‘शर्त लगा लीजिये, अगर अक्षय कुमार तुर्की या कहीं दूसरी जगह शूट कर रहे होते और वहां के राष्ट्राध्यक्ष से मुलाकात करते तो इस तरह की बहस ही नहीं होती…’।

इस ट्वीट के बाद तमाम यूजर्स नकवी को ही नसीहत देने लगे। सुधा रानी नाम की यूजर ने लिखा, ‘बचाव मत करिये, अक्षय कुमार संभवत: तुर्कों से मुलाकात भी नहीं करते…’। सलीम खान नाम के यूजर ने लिखा, ‘अक्षय कुमार सच्चे देशभक्त हैं, आमिर की तरह एंटी नेशनल नहीं हैं।’ पल्लवी ने लिखा, ‘आर्टिकल 370 हटने के बाद से ही तुर्की संयुक्त राष्ट्र और दूसरे फोरम पर कश्मीर का मुद्दा उठा रहा है।

तुर्की, मलेशिया और चीन FATF के मुद्दे पर पाकिस्तान को सपोर्ट करते रहे हैं। ऐसे में क्या किसी राष्ट्रवादी को इन देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मुलाकात करनी चाहिए?।’ उध, हुसैन अली खान ने लिखा, ‘अगर वह (अक्षय कुमार) अपनी फिल्म की शूटिंग के लिए पाकिस्तान या चीन भी जाते तब भी कोई विवाद नहीं होता क्योंकि वे सत्तारूढ़ पार्टी के लाडले बेटे हैं…’।

विवाद में VHP और उमा भारती भी कूदीं: उधर, इस पूरे विवाद में भाजपा की वरिष्ठ की नेता उमा भारती भी कूद गई हैं। उन्होंने आमिर खान पर निशाना साधते हुए कहा, ‘वे (आमिर खान) फिल्म अभिनेता हो सकते हैं, लेकिन मेरे पसंदीदा नहीं हैं। देश हमारा फेवरेट है। उन्हें याद रखना चाहिए कि देश की अस्मिता के मामले में आप ऐसी छूट नहीं ले सकते हैं।’ विश्व हिंदू परिषद ने आमिर खान पर तंज कसते हुए कहा कि ‘कुछ लोग पाकिस्तान जाकर बाजवा से गलबहियां करते हैं तो कुछ लोग तुर्की की फर्स्ट लेडी से उनका आशीर्वाद प्राप्त करने की कोशिश करते हैं।’

आपको बता दें कि आमिर खान अपनी फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की शूटिंग के सिलसिले में तुर्की में हैं। वहां उन्होंने राष्ट्रपति रेचप तैयप एर्दोगन की पत्नी एमीन एर्दोगन से मुलाकात की। इस मुलाकात की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आने के बाद सियासी तूफान मच गया। आमिर खान ट्रोल होने लगे। ट्विटर पर उनकी फिल्मों को बायकॉट करने की मांग उठने लगी।

गौरतलब है कि तुर्की उन देशों में शामिल रहा है, जिसने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने का विरोध किया था। इसके बाद से ही भारत और तुर्की के रिश्तों में थोड़ी तल्खी है। इसी वजह से आमिर की मुलाकात का विरोध हो रहा है।

Next Stories
1 सुशांत के सुसाइड वाले दिन अपार्टमेंट में जाती दिखी ‘मिस्ट्री वुमन’, सुब्रमण्यम स्वामी ने उठाए सवाल
2 12वीं के बाद होटल किचन में असिस्टेंट शेफ का काम करने लगे थे पंकज त्रिपाठी, थिएटर करने की वजह से डांटता था HR मैनेजर!
3 अब स्वरा भास्कर के ख़िलाफ़ अवमानना की कार्यवाही के लिए AG से मांगी सहमति; अयोध्या फैसले पर की थी टिप्पणी
ये  पढ़ा क्या?
X