ताज़ा खबर
 

क्यों राजकीय सम्मान के साथ हुआ था श्रीदेवी का अंतिम संस्कार- आरटीआई से सामने आया सच

बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ क्यों किया गया, इस सवाल का जवाब सूचना के अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत सामने आया है। मुंबई के आरटीआई कार्यकर्ता ने महाराष्ट्र सरकार के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपोर्टमेंट से सूचना के अधिकार कानून का इस्तेमाल करते हुए इस बारे में जानकारी मांगी थी।

दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी (फाइल फोटो)

बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ क्यों किया गया, इस सवाल का जवाब सूचना के अधिकार कानून (आरटीआई) के तहत सामने आया है। रिपब्लिक वर्ल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई के आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने महाराष्ट्र सरकार के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपोर्टमेंट (जीएडी) से सूचना के अधिकार कानून का इस्तेमाल करते हुए श्रीदेवी को दिए गए राजकीय सम्मान के बारे में विवरण मांगा था। आरटीआई कार्यकर्ता ने यह भी पूछा था कि इस सम्मान को देने का अधिकार किसके पास है? जीएडी की तरफ से जवाब में कहा गया कि अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाए, यह फैसला लेने की शक्ति मुख्यमंत्री के पास होती है। श्रीदेवी के बारे में मुख्यमंत्री के कार्यालय से 25 फरवरी को एक एक मौखिक आदेश मिला था और मुंबई उपनगर के कलेक्टर और पुलिस आयुक्त को 26 फरबरी को सरकारी आदेश के बारे में अवगत करा दिया गया था।

जीएडी की तरफ से यह जानकारी भी दी गई है कि पिछले 6 वर्षों में 41 लोगों के अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किए गए। उनमें पूर्व मुख्यंत्री विलासराव देशमुख और एआर अंतुले शामिल थे। शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे, विपासना गुरु सत्यनारायण गोयनका और दाऊदी बोहरा समुदाय के आध्यात्मिक प्रमुख सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन का भी राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया था। सरकार की प्रचार शाखा, डीजीआईपीआर के डायरेक्टर जनरल बृजेश सिंह ने कहा कि नियम के मुताबिक राजकीय सम्मान दिए जाने के बारे में मुख्यमंत्री अपने विवेक से फैसला ले सकते हैं। कुछ लोगों को जीवित रहते हुए प्रशासन या राजनीति में उनके पद को देखते हुए मृत्यु के बाद राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाता है। कुछ लोगों के प्रशासन या राजनीति में पदों को देखते हुए राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाता है। कुछ ऐसे लोगों को लेकर भी मुख्यमंत्री ने राजकीय अंतिम संस्कार का फैसला लिया जिनका नाम लिस्ट में नहीं है।

पद्म पुरस्कार पाने वालों के अंतिम संस्कार के लिए मुख्यमंत्री यह फैसला ले सकते हैं। श्री देवी को भी पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा गया था। बता दें कि बॉलीवुड पर अर्से तक राज करने वाली अभिनेत्री श्री देवी की पिछले महीने 24 फरबरी को दुबई के एक होटल के बाथरूम में दुर्घटनावश डूबने से मौत हो गई थी और 28 फरबरी को उपनगर के विले पार्ले में राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया था। इसे लेकर मनसे नेता राज ठाकरे ने एक रैली के दौरान सवाल भी खड़ा किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App