ताज़ा खबर
 

‘मेरे मरने पर भी उम्मीद नहीं…’ को-एक्टर के जनाजे में जब नहीं आया कोई तो भड़क गए थे ऋषि कपूर

Rishi Kapoor: हाल ही में एक्टर बिंदू दारा सिंह का भी एक पोस्ट सामने आया जिसमें वह ऋषि कपूर की तारीफ करते हुए कहते हैं कि 'एक ही बात का दुख है, ऋषि कपूर सबके जनाजों में पहुंचते थे..

Author Updated: May 1, 2020 5:56 PM
दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर ने दुनिया को कहा अलविदा

Rishi Kapoor: बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर ऋषि कपूर बेहद बेबाक स्वभाव के थे। उन्हें जब जो कहना होता था तुरंत कह डालते थे। ऐसा ही एक मौका था जब ऋषि कपूर ने न्यू जनरेशन स्टार्स पर भड़ास निकाल दी थी। दरअसल, हिंदी सिनेमा के लेजेंड एक्टर विनोद खन्ना चल बसे थे। लेकिन उनके अंतिम संस्कार में कम ही लोग देखे गए। जब सोशल मीडिया पर तस्वीरें सामने आईं तो आज की जनरेशन का कोई भी एक्टर या एक्ट्रेस विनोद खन्ना के जनाजे पर मौजूद नहीं था।

ऋषि कपूर ये दृश्य देख कर भड़क गए थे। ऐसे में ऋषि कपूर ने अपनी भड़ास ट्विटर पोस्ट के जरिए नई पीढ़ी के एक्टर्स पर निकाल दी। इतना ही नहीं ऋषि कपूर ने तो ये तक कह डाला था कि ‘जब मेरी बारी आएगी, मैं समझ गया हूं कि मुझे भी इस बात के लिए तैयार रहने की जरूरत है कि कोई मुझे कंधा देने नहीं आएगा।’ उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था-‘ऐसा क्यों? जब मैं मरूंगा, मुझे भी तैयार रहना चाहिए कि कोई भी मुझे कंधा देने नहीं आएगा। बहुत बहुत बहुत नाराज हूं मैं आज सो कॉल्ड स्टार्स।’

जिस वक्त विनोद खन्ना का निधन हुआ था, उस रोज प्रियंका चोपड़ा ने हाउस पार्टी रखी थी जिसमें तमाम स्टार्स ने शिरकत की थी। ऐसे में सोशल मीडिया पर प्रियंका के हाउस पार्टी की कई सारी तस्वीरें सामने आई थीं। ये देख कर ऋषि कपूर औऱ गुस्से में आ गए थे। इसको लेकर उन्होंने ट्वीट किया था- ”बहुत नाराजगी है, ऐसे कई चमचों से मिला हूं जो आखिरी रात प्रियंका चोपड़ा के घर में पार्टियां कर रहे थे। कुछ विनोद के यहां थे, मैं ऐसे लोगों से बहुत ज्यादा नाराज हूं।’

विनोद खन्ना के अंतिम संस्कार के वक्त ऋषि कपूर के बेटे रणबीर कपूर भी मौजूद नहीं थे तो इस बात के लिए उन्हें ट्रोल किया गया था औऱ कहा गय़ा था कि -‘सर आपका बेटा कहां था?’ ऐसे में ऋषि कपूर ने ट्वीट में जवाब देते हुए कहा था- ‘मेरी पत्नी नीतू और बेटे रणबीर वह देश से बाहर थे उस वक्त।’

हाल ही में एक्टर बिंदू दारा सिंह का भी एक पोस्ट सामने आया जिसमें वह ऋषि कपूर की तारीफ करते हुए कहते हैं कि ‘एक ही बात का दुख है, ऋषि कपूर सबके जनाजों में पहुंचते थे, लेकिन लॉकडाउन की वजह से हम उनके अंतिम संस्कार पर नहीं पहुंच पाए।’  ऋषि कपूर का निधन 30 अप्रैल सुबह 8.45 मिनट पर मुंबई के एक अस्पताल में हो गया था। दिग्गज एक्टर का अंतिम संस्कार चंदनवाड़ी शवदाह में हुआ था। लॉकडाउन की वजह से सिर्फ 20 लोगों को ही उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होने की इजाजत मिली थी।

ऋषि कपूर की अंतिम यात्रा में उनके परिवार वाले ही शामिल हुए थे। जिनमें  राजीव कपूर, नीता कपूर, रणबीर कपूर, आलिया भट्ट, नीतू कपूर, अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, अरमान जैन, करीना कपूर, सैफ अली खान, आयान मुखर्जी, अनिल अंबानी, रीमा जैन, मनोज जैन, अनीता जैन, रणधीर कपूर, विमल पारेख, नताशा नंदन, जयराम, रोहित शामिल थे।

वहीं ऋषि कपूर की बेटी ऋद्धिमा कपूर साहनी भी अपने पिता की अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हो पाईं, क्योंकि वह मुंबई नहीं दिल्ली में थीं। कोरोना वायरस के फैलने से देश में लॉकडाउन चल रहा है। ऐसे में ट्रेन औऱ फ्लाइट की आवाजाही में रोक लगी हुई है। इस वजह से ऋद्धिमा अपने पिता के आखिरी दर्शन नहीं कर पाईं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 पूर्व जज मार्कंडेय काटजू हुए ट्रोल, लिखा था- दो फिल्म स्टार्स की मौत पर जो आंसू बहा रहे हैं उनके लिए मजदूरों का दर्द मायने नहीं रखता
2 नसीरुद्दीन शाह की हालत गंभीर होने की उड़ी अफवाह तो एक्टर का आया बयान, बोले- मैं ठीक हूं, ऐसी किसी खबर…
3 ‘मैं कभी अस्पताल..’ अमिताभ बच्चन ने डिलीट कर दी थी ऋषि कपूर के निधन से जुड़ी पोस्ट, बताई वजह