ताज़ा खबर
 

खुल्लम खुल्ला में ऋषि कपूर ने बताया, अमिताभ बच्चन से था मुकाबला तो पैसे देकर खरीदा था बेस्ट एक्टर अवॉर्ड

ऋषि कपूर बातों की सीधे और साफ तरीके से कहने में विश्वास रखते हैं। फिर चाहे वह ट्विटर हो या उनकी किताब खुल्लम खुल्ला। ऋषि कपूर ने हाल ही में अपनी बायोग्राफी लॉन्च की है। यह किताब दिल्ली में लॉन्च की गई। इस मौके पर ऋषि कपूर की पत्नी नीतू सिंह भी मौजूद थीं।

बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर।

ऋषि कपूर बातों की सीधे और साफ तरीके से कहने में विश्वास रखते हैं। फिर चाहे वह ट्विटर हो या उनकी किताब खुल्लम खुल्ला। ऋषि कपूर ने हाल ही में अपनी बायोग्राफी लॉन्च की है। यह किताब दिल्ली में लॉन्च की गई। इस मौके पर ऋषि कपूर की पत्नी नीतू सिंह भी मौजूद थीं। अभी कुछ दिनों पहले ही करण जौहर ने अपनी बायोग्राफी द अनसूटेबल बॉय लॉन्च की थी। दोनों ही किताबों से इन सेलेब्स की जिंदगी के कई राज खुलकर सामने आ रहे हैं। यह किताबें इनकी पर्सनल लाइफ के अलावा इनसे जुड़े और करीबी लोगों के बारे में भी कई अहम बातें बता रही हैं। अपनी किताब में ऋषि ने अपने पिता राज कपूर और बेटे रणबीर कपूर के साथ अपने रिश्ते के बारे में बताया। इसके साथ ही उन्होंने अपने करियर, अमिताभ बच्चन और पत्नी नीतू सिंह के बारे में कुछ बातें बताई हैं।

अपने करियर के बारे में बात करते हुए ऋषि कपूर ने कहा, लोगों का कहना है कि मैं चांदी की चम्मच के साथ पैदा हुआ। मैं आपकी इस बात से सहमत हूं। लेकिन इसमें मेरी गलती क्या है? मैं भले ही फुटपाथ पर नहीं सोया, भूखा नहीं रहा, मेरी फिल्म बॉबी एक बड़ी हिट रही। लेकिन मेरा स्ट्रगल दूसरी तरह का था। उन्होंने अपनी किताब में बताया है कि उनका करियर अमिताभ बच्चन की वजह से ब्लॉक हो गया था। उन्होंने कहा, मेरी फिल्में फ्लॉप हुईं, मैं ग्राउंड जीरो पर आ गया था। मैं अपने कंपीटीटिर्स की तरह अच्छा था। लेकिन मुझे सिस्टम से लड़ना पड़ा। मैं एक रोमांटिक फिल्म के साथ बॉलीवुड में आया और उसी साल इंडस्ट्री में अमिताभ बच्चन नाम का एक तूफान आया। उस साल अमिताभ बच्चन की जंजीर रिलीज हुई थी। इस फिल्म से पूरा सीन बदल दया था। उस वक्त कोई रोमांटिक फिल्में नहीं देखना चाहता था। मैं स्ट्रगल कर रहा था। अपने 25 साल के करियर में मैंने लड़ाई लड़ी है और ऐसे हीरो का सामना किया है।

अपनी बायोग्राफी में उन्होंने एक और बात का जिक्र किया है। उन्होंने खुलासा किया है कि एक बार उन्होंने अपने लिए अवॉर्ड खरीदा था। जी हां इसके लिए उन्होंने तीस हजार रुपए दिए थे। कपूर ने बताया कि ये घटना तब की है जब वे 21 साल के ‘बच्चे’ थे। उन्होंने कहा- ‘एक शख्स मेरे ऑफिस में आया और कहा कि अगर आप 30 हजार रुपये देंगे तो आपको अवॉर्ड दिया जाएगा। मैंने ऐसा किया, लेकिन मुझे ऐसा करने पर अफसोस है।’ बता दें कि उस समय फिल्म बॉबी और अमिताभ बच्चन की जंजीर आई थी। दोनों को ही बेस्ट एक्टर कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया था।

अपने पिता के बारे में बात करते हुए ऋषि कपूर ने कहा, राज कपूर मेरे पिता ही नहीं मेरे गुरु भी थे। जब हम बच्चे थे तो हमें पता था कि हम किसी खास शख्स के बच्चे हैं। क्योंकि हम जहां भी जाते थे वहां हमें राज कपूर के बच्चों की तरह देखा जाता था।

वीडियो-याराना फिल्म के गाने की शूटिंग के दौरान प्राब्लम बन गया था ऋषि कपूर और नीतू कपूर का प्यार!!

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App