ताज़ा खबर
 

पैसों की कमी से जूझ रहे दुकानदार की मदद के लिए आगे आईं ऋचा चढ्ढा

नोटबंदी की वजह से उसे कैश की दिक्कत हो रही थी। इसके बाद एक्ट्रेस ने उनकी मदद की और बताया कि कैसे वो कुछ सुविधाएं बढ़ाकर अपने ग्राहकों को कहीं और जाने से रोक सकते हैं।

Author नई दिल्ली | January 22, 2017 11:18 AM
रिचा चढ्ढा ने नोटबंदी के दौरान एक दुकानदार की मदद। (Image Source: Instagram)

एक्ट्रेस रिटा चढ्ढा जो इस बात पर विशवास रखती हैं कि लोगों को परेशानी में चल रहे लोगों को गाइड करना चाहिए। उन्होंने नोटबंदी के समय एक शख्स की मदद की। हाल ही में अपनी अपकमिंग फिल्म के लिए दिल्ली में शूटिंग कर रही एक्ट्रेस ने एक बुढ़े आदमी की मदद की जो अपने घर के नजदीक एक परचून की दुकान चलाते हैं। नोटबंदी की वजह से उसे कैश की दिक्कत हो रही थी। इसके बाद एक्ट्रेस ने उनकी मदद की और बताया कि कैसे वो कुछ सुविधाएं बढ़ाकर अपने ग्राहकों को कहीं और जाने से रोक सकते हैं। एक बयान में ऋचा ने कहा- यह बहुत महत्वपूर्म है कि हम उन लोगों की मदद करे जिन्हें की जानकारी नहीं है। मेरा मानना है कि निर्णय अचानक लिया गया। जिन लोगों के पास सूचनाएं नहीं थी, जिनकी दुकानों में स्वैपिंग मशीन नहीं थी उन्हें इससे काफी दिक्कतें हुईं। लेकिन मुझे लगता है कि हमें मदद करनी चाहिए और जिन लोगों को किसी भी तरह की गाइडेंस की जरूरत है उन्हें वो मुहैया करानी चाहिए।

बता दें कि गैंग्स ऑफ वासेपुर, फुकरे, रामलीला, तमंचे और मसान जैसी फिल्मों से अपनी एक्टिंग का लोहा मनवा चुकीं ऋचा चड्ढा आज यानि 28 दिसंबर को अपना बर्थडे मना रही हैं। ओए लक्की लक्की ओए से बॉलीवुड में एंट्री लेने वाली ऋचा की शुरुआत मॉडलिंग से हुई थी। उन्हें अपनी तीसरी फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर के लिए फिल्म फेयर का बेस्ट एक्ट्रेस, स्क्रीन अवॉर्ड और स्टार डस्ट में बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवॉर्ड ले चुकी हैं।

इसके अलावा उन्हें फुकरे में अपने कॉमिक रोल के लिए भी बेस्ट परफॉर्मेंस का अवॉर्ड मिल चुका है। मसान फिल्म के लिए उन्हें एडिटर्स च्वाइस परफॉर्मर ऑफ द ईयर अवॉर्ड भी मिला था। आज उनके जन्मदिन पर पढ़ें उनसे जुड़ी वो बातें जो कम ही लोग जानते हैं। खालिस्तान की मांग के दौरान चल रहे हालात में ऋचा के माता-पिता को अमृतसर से दिल्ली शिफ्ट होने पर मजबूर किया गया था। उस वक्त ऋचा 2 साल की थीं।

ऋचा ने अपने करियर की शुरुआत एक जानी-मानी मेन्स फैशन मैगजीन से की थी। इसके बाद उन्होंने खुद भी मॉडलिंग में हाथ आजमाया और उसके बाद थिएटर ज्वाइन किया। उन्होंने भारत और पाकिस्तान में कई नाटक भी किए।

ऋषि कपूर ने बोयग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला’ में माना- “फिल्म ‘बॉबी’ के लिए खरीदा था अवॉर्ड”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App