ताज़ा खबर
 

वो एक कारण जिसके चलते टीवी की दुनिया को अलविदा कह दिया था रॉनित राय ने

छोटे पर्दे पर अपार सफ़लता के बाद रॉनित ने फिर फ़िल्मों का रूख किया और उनकी फ़िल्मों में दूसरी पारी शानदार रही। रॉनित ने उड़ान, अग्ली, टू स्टेट्स, दैट गर्ल इन यैलो बूट्स और काबिल जैसी फ़िल्मों में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया।

रॉनित टीवी के बाद अब फ़िल्मों में भी सफल पारी खेल चुके हैं।

कसौटी ज़िंदगी की’ में ऋषभ बजाज और फिर ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ में मिहिर का किरदार निभाकर छोटे पर्दे पर धूम मचाने वाले रॉनित रॉय एक ज़माने में टीवी की दुनिया में सबसे ज़्यादा फ़ीस लेने वाले सितारे के तौर पर भी देखे जाते थे। लेकिन दौलत और शोहरत के बावजूद एक समय ऐसा आया था जब रॉनित ‘अंदर से मरे’ जा रहे थे। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा था जब मैं टीवी शोज़ के द्वारा इतना पैसा कमा रहा था, जितना किसी सामान्य फ़िल्म एक्टर की फ़ीस होती है। लेकिन कहीं न कहीं मुझे टीवी पर काम करना बंद करना ही था क्योंकि चीज़ें मेरे लिए प्रोग्रेसिव हिसाब से नहीं हो रही थी और मैं अंदर ही अंदर परेशान था। मैंने अपने आप से कहा था कि मैं ये और नहीं कर सकता हूं इसलिए मैंने टीवी शोज़ में काम करना बंद कर दिया था।

रॉनित रॉय उड़ान और अग्ली जैसी फ़िल्मों में अपने रोल से अलग पहचान बना चुके हैं।

रॉनित छोटे पर्दे पर आने से पहले फ़िल्मों में काम कर चुके हैं लेकिन अपने करियर के शुरूआती दौर में उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई थी। लेकिन टीवी की दुनिया में उन्होंने सफ़लता के रिकॉर्ड्स बनाए और एक समय तो उन्हें टीवी इंडस्ट्री का अमिताभ बच्चन कहा जाता था। छोटे पर्दे पर अपार सफ़लता के बाद रॉनीत ने एक बार फिर फ़िल्मों का रूख किया था और उनकी फ़िल्मों में दूसरी पारी बेहतर रही। रॉनीत ने उड़ान, अग्ली, टू स्टेट्स, दैट गर्ल इन यैलो बूट्स और काबिल जैसी फ़िल्मों में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया। उन्हें खासकर अग्ली और उड़ान फ़िल्म में अपने निभाए रोल के लिए काफी सराहना मिली।

अनीता हंसनंदानी की पार्टी में कुछ यूं मस्ती करते नज़र आए सितारे

अपने एक्टिंग के प्रोसेस के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैं अपने करियर के उस दौर में हूं जहां मुझे निर्देशक सलाह नहीं देते कि मुझे किसी रोल को कैसे प्ले करना है। अब बस मुझे कैरेक्टर मिलता है और फिर उस पर रिसर्च कर मैं अपने काम को अंजाम देने की कोशिश करता हूं। ंये ज़रूर है कि कई बार कैरेक्टर को लेकर उधेड़बुन होती है तो निर्देशक से पूछ लेता हूं। फ़िल्म उड़ान  के दौरान भी मेरी और विक्रमादित्य मोटवानी की केरेक्टर को लेकर बहस होती थी। गौरतलब है कि रॉनित ‘कहने को हमसफर है’ नाम की वेबसीरीज़ और थग्स ऑफ हिंदोस्तान जैसी फ़िल्मों में नज़र आएंगे।

https://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App