ट्विटर ने कुछ घंटे के लिए ब्लॉक किया था, साहेब ने तो परमानेंट कर दिया- रविशंकर प्रसाद के इस्तीफे पर लोग कर रहे ऐसा कमेंट

रविशंकर प्रसाद अपने इस्तीफे के बाद से ही सोशल मीडिया यूजर के निशाने पर आ गए हैं। यूजर ने उनके साथ-साथ निर्मला सीतारमण और प्रकाश जावड़ेकर पर भी खूब ट्वीट किया।

Union cabinet Reshuffal
भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

पीएम नरेंद्र मोदी के कैबिनेट विस्तार के बाद जहां कुछ नए चेहरों को शामिल किया गया तो वहीं कई दिग्गज नेताओं की छुट्टी कर दी गई है। बीते दिन अपने पद से इस्तीफा देने वालों में डॉक्टर हर्ष वर्धन से लेकर प्रकाश जावड़ेकर तक कई नेता भी शामिल हैं। वहीं संचार एवं सूचना तकनीकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को भी बीते दिन अपने पद से हाथ धोना पड़ा। मंत्री पद से हटाए जाने के बाद से बाद से ही रविशंकर प्रसाद सोशल मीडिया यूजर के निशाने पर आ गए हैं। रवीश कुमार से लेकर पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने तो रविशंकर प्रसाद के इस्तीफा देने पर रिएक्शन दिया ही था, अब सोशल मीडिया यूजर भी उनके इस कदम पर खूब चुटकी ले रहे हैं।

बबीता नाम की एक यूजर ने रविशंकर प्रसाद की तस्वीर साझा करते हुए लिखा, “ट्विटर ने तो कुछ ही घंटों के लिए इनका एकाउंट ब्लॉक किया था। साहब ने तो हमेशा के लिए ही कर दिया।” वहीं अंकित नाम के एक यूजर ने भाजपा नेता के पुराने ट्वीट को साझा करते हुए उनपर तंज कसा और लिखा, “पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा लिए गए सभी निर्णय ऐतिहासिक होते हैं।”

तमिलनाडू कांग्रेस कमेटी में अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष डॉक्टर असलम भाटी ने रविशंकर प्रसाद पर चुटकी लेते हुए लिखा, “इस्तीफा प्रसाद ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया।” जियोरी नाम की एक यूजर ने रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर की तस्वीर साझा करते हुए लिखा, “मोदी जी राष्ट्र के हर वर्ग की नब्ज का ध्यान रखते हैं। यह बात उन्होंने दोबारा साबित कर दी।”


वहीं एक यूजर ने रविशंकर प्रसाद व डॉक्टर हर्षवर्धन पर ट्वीट करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर भी निशाना साधा। यूजर ने लिखा, “हर्षवर्धन, प्रकाश जावड़ेकर, रविशंकर प्रसाद, सब चले गए, लेकिन दुख की बात है कि निर्मला सीतारमण अभी भी देश के वित्त मंत्री के रूप में काबिज हैं।”


यूजर ने निर्मला सीतारमण पर ट्वीट करते हुए आगे लिखा, “मैं दावे के साथ कहता हूं कि जब तक यह मोदी जी के सेल इंडिया प्रोजेक्ट को पूरा नहीं कर देतीं, यह कहीं नहीं जाने वालीं।” रविशंकर प्रसाद पर आए कमेंट यहीं नहीं रुके।

अमन कुमार नाम के यूजर ने उनके इस्तीफे पर खुशी जताते हुए लिखा, “रविशंकर प्रसाद और डॉक्टर हर्षवर्धन के इस्तीफे के बारे में सुनकर काफी खुश हूं।” वहीं अमित नाम के एक यूजर ने पीएम नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करते हुए लिखा, “2 बेकार और प्रदर्शन न करने वाले मंत्री रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर को हटाने के लिए शुक्रिया मोदी जी।”

एक यूजर ने रविशंकर प्रसाद के जाने पर सवाल करते हुए लिखा, “मेरा एक सवाल है कि रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर को क्यों हटाया गया। ट्विटर से लड़ाई ढंग से संभाली नहीं गई? वो अटल के दौर के थे इसलिए?”

अपडेट