ताज़ा खबर
 

रातों-रात ‘लता मंगेशकर ऑफ रानाघाट’ बनी रानू मंडल, अब ऐसी चल रही है जिंदगी

रानू मंडल की जिंदगी बदलने वालों में अतींद्र चक्रवर्ती के अलावा तपन दास और मीठू रोजारियो का नाम भी शामिल है।

Author नई दिल्ली | Updated: January 24, 2020 2:50 AM
रानू का गाना ‘तेरी मेरी कहानी’ सबकी जुबान पर चढ़ गया।

एक विक्षिप्त महिला से गायिका बनीं रानू मंडल पर लिखना, उनकी बीती जिंदगी पर सोचना और उनसे मिलना अभी भी आश्चर्य सा लगता है। गायक-संगीतकार हिमेश रेशमिया की एक फिल्म के लिए गाना गाने और कुछ टेलीविजन शो में आने के बाद रानू मंडल का चेहरा देशभर में जाना-पहचाना जाने लगा। रानू मंडल आज भी बेगोपाड़ा इलाके में ही रह रही हैं, जो रानाघाट स्टेशन के करीब है। रानाघाट स्टेशन के चार नंबर प्लेटफार्म पर लता मंगेशकर के गानों को गाते-गाते रानू मंडल की किस्मत पलट गई।

महानगर कोलकाता से रानाघाट/बेगोपाड़ा की दूरी 72 किलोमीटर है। यहीं पास में एक जगह है रथतला, जहां अपनी हिंदी फिल्मों की नायिका रहीं राखी कभी रहती थीं। राखी यानी राखी गुलजार। रानाघाट, रानू मंडल और राखी-ये तीन नाम अब यहां की पहचान हैं।

बेगोपाड़ा में जन्मीं रानू मंडल कभी कोलकाता में अपनी मौसी के पास रहती थीं। शादी के बाद पति बबलू मंडल के साथ बंबई चली गईं। गीत गाना या गुनगुनाना रानू की रूह में बसा था। रानू कहती हैं कि रेडियो के गीत उनके दिलो-दिमाग पर इस कदर छाए रहते थे कि वह उन्हें गुनगुनाए बिना नहीं रह सकती थीं। लेकिन उनके पति को यह नागवार लगता था। वह कहती हैं, उसके पति अभिनेता फिरोज खान के घर पर रसोइए थे। बाद में पति से अनबन होने पर वे अपने घर बेगोपाड़ा आ गर्ईं। रानू के दो बच्चे हुए। 2009 में पति बबलू मंडल का देहांत हो गया।

फिर, जोदू मंडल नामक एक अन्य व्यक्ति से रानू मंडल की शादी हुईं। इस शादी से भी रानू मंडल को एक बेटा और एक बेटी है। लेकिन सबने रानू का साथ छोड़ दिया। उसके गुनगुनाते रहने को उसके घरवाले उसका पागलपन समझते थे। इसके बाद रानू का रोज का ठिकाना रानाघाट स्टेशन बन गया। वह सुबह-सुबह स्टेशन पर आ जातीं और गुनगुनाती। यह रानू मंडल के रोज की आदत थीं। एक दिन अतींद्र चक्रवर्ती नामक युवक ने रानू मंडल का वीडियो बनाया और उसे अपने फेसबुक पेज पर अपलोड कर दिया। वीडियो इस कदर वायरल हुआ कि रानू मंडल की आवाज तीस लाख लोगों के बीच जा पहुंचीं।

फिर, संगीतकार हिमेश रेशमिया ने फेसबुक के जरिए अतींद्र चक्रवर्ती से संपर्क साधा और रानू मंडल रातों-रात ‘लता मंगेशकर ऑफ रानाघाट’ बन गईं। इस तरह हिमेश रेशमिया की फिल्म ‘हैप्पी, हार्डी एंड हीर’ के लिए उन्हें चार गाने गाने का मौका मिला। इस फिल्म में रानू का गाना ‘तेरी मेरी कहानी’ सबकी जुबान पर चढ़ गया। यह फिल्म इसी महीने रिलीज होगी।

रानू मंडल की जिंदगी बदलने वालों में अतींद्र चक्रवर्ती के अलावा तपन दास और मीठू रोजारियो का नाम भी शामिल है। तपन दास रानू मंडल के मैनेजर हैं। उन्होंने बताया कि रानू ने कुवैत और अबुधाबी में स्टेज शो किया है। नवंबर में अबुधाबी में हुए शो में हिमेश रेशमिया और उनकी पूरी टीम भी रानू मंडल के साथ थी। केरल की एक मलयाली फिल्म के लिए बातचीत चल रही है। सबकुछ ठीक-ठाक रहा, तो मलयाली भाषा में कुछ गानों के लिए अनुबंध हो सकता है। रानू मंडल की जीविका का माध्यम अब स्टेज शो ही है।

जयनारायण प्रसाद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 ‘मैं किसी और का हूं फिलहाल’ सॉन्ग को एक बार फिर जीने के लिए अक्षय कुमार तैयार
2 क्या ऋचा चड्ढा और अली फैजल जल्द करेंगे शादी! एक्ट्रेस ने दिया बड़ा बयान..
3 क्या सच में रोहन श्रेष्ठ संग शादी करने जा रही हैं श्रद्धा कपूर? Street Dancer 3d एक्ट्रेस ने दिया यह बयान
ये पढ़ा क्या?
X