ताज़ा खबर
 

‘जय श्री राम’ कोई पॉलिटिकल नारा नहीं- BJP ज्वॉइन करने के बाद रामायण के ‘राम’ ने कहा ये, आने लगे ऐसे कमेंट्स

बीजेपी में शामिल होने के बाद एक्टर अरुण गोविल हाल ही में अपने एक ट्वीट को लेकर सुर्खियों में आ गए हैं। इस ट्वीट में अरुण गोविल ने कहा कि 'जय श्री राम' कोई पॉलिटिकल नारा नहीं है।

arun govil, arun govil twitter, arun govil tweet viralअरुण गोविल ने ‘जय श्री राम’ नारे को लेकर किया ट्वीट

टेलीविजन के सबसे ज्यादा चर्चित और पौराणिक धारावाहिक ‘रामायण’ में भगवान श्रीराम का किरदार निभाने वाले एक्टर अरुण गोविल ने हाल ही में राजनीति में कदम रखा है। अरुण गोविल अब भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। दरअसल, अरुण गोविल ने पार्टी कार्यालय में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। पांच राज्यों में होने वाले चुनावों से पहले अरुण गोविल के बीजेपी में शामिल होने के बाद से सोशल मीडिया पर लगातार रिएक्शन आ रहे हैं।

इसी बीच एक्टर अरुण गोवल अपने एक ट्वीट को लेकर सुर्खियों में आ गए हैं। उन्होंने ‘जय श्री राम’ नारे को लेकर अपना पक्ष रखा। जिसमें उन्होंने कहा, “‘जय श्री राम’ कोई पॉलिटिकल नारा नहीं है। हमारी संस्कृति और संस्कारों से जन्मा हमारे ह्रदय से निकला एक ऐसा उदघोष है, जो हमारे जीवन को सार्थक करता है। जय जय श्री राम।” अरुण गोविल के इस ट्वीट पर लोग खूब कमेंट कर रहे हैं और अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कुछ लोग उनके ट्वीट का समर्थन कर रहे हैं, तो कुछ उनके राजनीति में आने पर सवाल उठा रहे हैं।

नंदिनी शर्मा नाम की यूजर ने अरुण गोविल के ट्वीट का समर्थन करते हुए लिखा, “प्रभु बिलकुल सही बोले आप। लेकिन जिनका दिमाग ही गंदा हो उनको क्या समझाना? आप ही प्रभु श्री राम हैं। मैं आपको ही भगवान मानती हूं। तथा लगता है कि अब राम राज्य अवश्य आएगा।”

वहीं, अल्ताफ खान के एक यूजर ने लिखा, “राजनीति और धर्म अलग- अलग होने चाहिए। राजनीति का मकसद सिर्फ आम जनता की समस्याओं तक सीमित रहना चाहिए। जब आम जनता की समस्याएं हल हो जाये तो हम भी जय सिया राम बोलेंगे आपके साथ साथ।”

बता दें कि अरुण गोविल ‘रामायण’ के पहले ऐसे कलाकार नहीं हैं, जो राजनीति में उतरे हैं। इससे पहले धारावाहिक में ‘सीता’ का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस दीपिका चिखलिया, ‘हनुमान’ का किरदार निभाने वाले ‘दारा सिंह’ और ‘रावण’ का किरदार निभाने वाले एक्टर अरविंद त्रिवेदी भी राजनीति में अपनी किस्मत आजमा चुके हैं।

गौरतलब है कि कोरोनवायरस के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान दूरदर्शन पर ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ का प्रसारण दोबारा शुरू हुआ था। जिसके बाद अरुण गोविल सुर्खियों में आ गए थे। लॉकडाउन के दौरान ‘रामायण’ की टीआरपी सबसे ऊपर थी।

Next Stories
1 स्कूल में बच्चों को पढ़ाई जाए भगवद गीता, ये असली ज्ञान- बोलीं मौनी रॉय
2 जब अलका याग्निक ने गुस्से में आमिर खान को रिकॉर्डिंग स्टूडियो से निकलवा दिया था बाहर, ये थी वजह
3 केंद्र सरकार है कहां, मिल तो रही नहीं पिछले दो महीने से- राकेश टिकैत से पूछा गया सवाल तो भड़ककर बोले- आप पता करो
कोरोना LIVE:
X