ताज़ा खबर
 

पिता थे बड़े बिजनेसमैन फिर भी श्रीकृष्णा के ‘दुर्योधन’ को रहना पड़ा स्लम में, जानिये- पूरा किस्सा

कुमार हेगड़े एक संपन्न परिवार से ताल्लुक रखते हैं। हेगड़े के पिता जी का होटल का बिजनेस था और वो चाहते थे कि बेटा भी इसी बिजनेस में उनका हाथ बंटाए। लेकिन कुमार हेगड़े की एक्टिंग में रुचि...

Ramanand Sagar Shree Krishna, Kumar Hegde struggle,80 के दशक में टीवी शो ‘जरा हट के’ में कुमार हेगड़े को लकी अली के बड़े भाई की भूमिका मिली।

रामानंद सागर के चर्चित सीरियल ‘श्रीकृष्णा’ में दुर्योधन की भूमिका निभाने वाले कलाकार कुमार हेगड़े आज किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। दुर्याेधन के किरदार से लोकप्रिय होने के बाद वे कई और पौराणिक शो का हिस्सा बने लेकिन करियर के शुरुआती दिनों में उनको काफी संघर्ष करना पड़ा था। अपने करियर को लेकर कुमार हेगड़े इतने पैशनेट थे कि संपन्न परिवार से होते हुए भी मुंबई की झोपड़ पट्टी में रहने से गुरेज नहीं किया।

बता दें कि कुमार हेगड़े एक संपन्न परिवार से ताल्लुक रखते हैं। हेगड़े के पिता जी का होटल का बिजनेस था और वो चाहते थे कि बेटा भी इसी बिजनेस में उनका हाथ बंटाए। लेकिन कुमार हेगड़े की एक्टिंग में रुचि बचपन से ही थी। वे इसे ही अपना करियर बनाना चाहते थे। कुमार हेगड़े जब चौथी कक्षा में थे तभी से नाटक में काम करते आ रहे हैं। चौथी क्लास में पहली बार नाटक में हिस्सा लिया, जिसके लिए उन्हें प्रथम पुरस्कार भी मिला था। फिर यहीं से हेगड़े की एक्टिंग में रुचि और बढ़ी और फिर नाटकों और टीवी की ओर अपनी राह मोड़ ली।

घर से नहीं मिला सपोर्टः कुमार हेगड़े एक्टिंग में करियर बनाना चाहते थे लेकिन परिवार से कोई सपोर्ट नहीं कर रहा था। पिता जी का मानना था कि ये सब बेकार की चीजें हैं। जीवन यापन करना है तो परिवार के बिजनेस में हाथ बंटाना होगा। हालांकि बार बार मिन्नतों के बाद कुमार हेगड़े को एक्टिंग में करियर बनाने के लिए घर से इजाजत तो मिल गई,  लेकिन इस शर्त पर कि अगर वे इसमें कामयाब नहीं होते हैं तो वापस आकर फैमिली बिजनेस को संभालना होगा।

संपन्न परिवार से होते हुए भी झोपड़ पट्टी में रहना पड़ाः घर से निकलने के बाद कुमार हेगड़े का असल संघर्ष शुरू हुआ। टीवी शोज में रोल पाने के लिए काफी संघर्ष करते। वे अपने गांव गणेशीपुरी से मुंबई का सफर बस और ट्रेन से किया करते। हाल ये हो गया कि संघर्ष के शुरुआती दिनों में कुमार को झोपड़ पट्टी में रहना पड़ा। यहीं पर वे मद्रासी होटल में काम करने लगे। बचे हुए वक्त में वे अपनी फिटनेस बनाने से लेकर घुड़सवारी और तलवारबाजी सीखने का काम किया।

ऐसे बदली किस्मतः 80 के दशक में टीवी शो ‘जरा हट के’ में कुमार हेगड़े को लकी अली के बड़े भाई की भूमिका मिली। इस शो में उनके सहकलाकर थे दिलीप जोशी जो तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जेठालाल का किरदार निभाते हैं। इन्हीं दिनों रामानंद सागर श्रीकृष्णा के लिए कास्टिंग कर रहे थे। हेगड़े भी पहुंचे और उनकी एक्टिंग से मोती सागर काफी प्रभावित हुए। मोती सागर ने कुमार हेगड़े को कृष्णा में अश्वत्थामा और अभिमन्यु का रोल दे दिया।

लेकिन इन किरदारों में रुचि नहीं होने के नाते इसे छोड़ दिया। वो चाहते थे कि अलिफ लैला में रोल मिले जो, तब काफी लोकप्रिय शो था। कुमार को अलिफ लैला में काम मिल भी गया। इसके 10 एपिसोड शूट करने के बाद उनको रामानंद सागर ने श्रीकृष्णा में दुर्योधन का रोल दे दिया। इसके बाद कुमार हेगड़े कई पौराणिक शो का हिस्सा बने। देवो के देव महादेव में इनके नंदी का किरदार लोगों को काफी पसंद आया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तारक मेहता से पहले नहीं चमकी थी दिशा वकानी की किस्मत, बी ग्रेड फिल्म में भी काम कर चुकी हैं ‘दया बेन’
2 ‘भारत में असुरक्षित महसूस करते हैं और…’, आमिर ख़ान की तुर्की की फर्स्ट लेडी से मुलाकात की तस्वीरें वायरल, हुए ट्रोल
3 विवादों में बॉबी देओल की फ़िल्म ‘क्लास ऑफ 83’, एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ने भेजा नोटिस, जानें पूरा मामला
ये पढ़ा क्या?
X