ताज़ा खबर
 

जब तक कानून वापस नहीं होंगे, आंदोलन यूं ही जारी रहेगा- राकेश टिकैत ने किया ऐलान तो यूजर्स करने लगे ऐसे कमेंट

किसान आंदोलन को लेकर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने एक और ऐलान कर दिया है। उनका कहना है कि जब तक कानूनों की वापसी नहीं हो जाती, वह आंदोलन को यूं ही जारी रखेंगे।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत। फोटो- पीटीआई

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के विरोध में किसान बीते सात महीनों से दिल्ली से सटे बॉर्डर पर डटे हुए हैं। किसानों की मांग है कि सरकार तीनों ही कृषि कानूनों को वापस ले ले, साथ ही एमएसपी को कानूनी गारंटी बना दे। वहीं किसान आंदोलन को लेकर हाल ही में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने एक और ऐलान कर दिया है। उनका कहना है कि जब तक कानूनों की वापसी नहीं हो जाती, वह आंदोलन को यूं ही जारी रखेंगे।

राकेश टिकैत ने इस मामले को लेकर ट्वीट भी किया है, जो सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोर रहा है। अपने ट्वीट में राकेश टिकैत ने किसान आंदोलन पर बात करते हुए कहा, “किसान सरकार से संशोधन नहीं चाहता है बल्कि काले कृषि कानूनों की वापसी चाहता है।”

राकेश टिकैत ने ट्वीट में आगे लिखा, “जब तक कानूनों को वापस नहीं लिया जाता, तब तक किसानों का यह आंदोलन यूं ही जारी रहेगा।” उनके इस ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर ने भी खूब कमेंट किये। दलजीत नाम के एक यूजर ने उन्हें जवाब दिया, “पूरा देश और पूरी दुनिया सरकार के रवैये को देख रही है। आंदोलन जितना लंबा चलेगा, नुकसान भी उतना अधिक होगा।”


किसान नेता राकेश टिकैत के ट्वीट का जवाब देते हुए अमित नाम के एक यूजर ने लिखा, “जय जवान जय किसान, आपकी वजह से पूरा देश खाना खाता है, लेकिन तानाशाह सरकार एक दिन जरूर मानेगी। यह मेरा पूर्ण विश्वास है। आप निरंतर ऐसे ही देश के प्रति समर्पित होकर अपना काम करते रहिए।”

शोबित नाम के एक यूजर ने राकेश टिकैत के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “कोई परेशान है कुर्सी के लिए, कोई ख्वाहिशों के लिए। और एक किसान परेशान है उधार के किश्तों और रोटी के लिए।” वहीं एक यूजर ने राकेश टिकैत पर तंज कसते हुए लिखा, “आप तो किसान आंदोलन के नाम पर मजे कर रहे हो। किसान हम भी हैं और हम नहीं चाहते कि कानून वापिस हों और होंगे भी नहीं।”

बता दें कि राकेश टिकैत ने एक और ट्वीट कर केंद्र सरकार पर तंज कसा था। अपने ट्वीट में किसान नेता ने लिखा, “सरकारें आरोप ढूंढती हैं, समाधान नहीं। यह कौन सा लोकतंत्र है। देशभर के किसान सात महीने से राजधानी में धरने पर बैठे हैं और केंद्र सरकार तानाशाह रवैया अपनाए हुए है।” इसके अलावा राकेश टिकैत बीते दिन आज तक की डिबेट का भी हिस्सा बने, जहां उन्होंने भाजपा सरकार व संबित पात्रा पर जमकर निशाना साधा

Next Stories
1 जब फिल्म के सीन को शूट करने के लिए 10-12 दिन तक नहीं नहाए थे आमिर खान, जानिए क्या थी वजह
2 राजेश खन्ना को मौत से नहीं बल्कि इस चीज से लगता था सबसे ज्यादा डर, तेज आवाज में टीवी चलाकर सोते थे काका
3 अक्षय कुमार को इस बॉलीवुड सिंगर ने बताया ‘गरीबों का मिथुन चक्रवर्ती’, किया एक्टर को ‘स्टार’ बनाने का दावा
ये पढ़ा क्या?
X