100 करके 5 रुपये घटा रहे हैं, कहते हैं राहत दी – पेट्रोल-डीजल के दाम पर राकेश टिकैत का तंज, बोले- आगामी चुनाव के कारण है ये

राकेश टिकैत ने पेट्रोल-डीजल के दाम में आई कमी पर सरकार को घेरा और कहा कि 100 रुपये की वृद्धि करके ये पांच रुपये घटा रहे हैं।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
Farmer Leader Rakesh Tikait (Photo Source – PTI)

दिवाली के खास मौके पर मोदी सरकार ने पेट्रोल डीजल के दामों में कटौती करते हुए लोगों को तोहफा दिया। गुरुवार को लागू हुई कीमतों के मुताबिक पेट्रोल और डीजल के दामों में क्रमश: 5 और 10 रुपये की कमी की गई। वहीं बुधवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 110.4 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 98.42 रुपये प्रति लीटर थी। हालांकि इस कटौती से किसान नेता राकेश टिकैत खास खुश नजर नहीं आए। उन्होंने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि 100 रुपये बढ़ाकर ये 5 रुपये घटा रहे हैं।

राकेश टिकैत ने सरकार के इस कदम को विधानसभा चुनाव के सिलसिले में उठाया गया कदम भी बताया। न्यूज 24 को दिए इंटरव्यू में राकेश टिकैत से सवाल किया गया कि सरकार ने राहत दी, सरकार ने 5-10 रुपये कम किया, फिर राज्यों ने भी कम किया। ये 12 रुपये, 15 रुपये तक भी जा सकते हैं। सवाल का जवाब देते हुए किसान नेता ने कहा, “मतलब 50 रुपये बढ़ाकर 6 रुपये कम कर दिए।”

राकेश टिकैत ने अपने बयान में आगे कहा, “इसे थोड़ा और नीचे लाना चाहिए। ये तो अस्पताल में ऑक्सीजन देने और मरीज से साइन करवाने जैसा है कि तीन दिन ही मेहमान है केवल। थोड़ा सा दाम और कम कर दें। कम से कम 60-65 रुपये तक कर दें, नेपाल के बराबर ही कर दें।” उनकी बात पर रिपोर्टर ने पूछा, “इससे किसान खुश हो जाएंगे?”

रिपोर्टर के सवाल का जवाब देते हुए किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, “नहीं खुश नहीं होंगे।” इंटरव्यू के बीच ही किसान नेता से दाम में कटौती का कारण पूछा गया और सवाल किया गया, “इसका कारण क्या हो सकता है, उपचुनाव के नतीजे हैं या आने वाला चुनाव।” इसपर राकेश टिकैत ने कहा, “आगामी चुनाव कारण हैं। ये बढ़ा-बढ़ाकर राहत दे रहे हैं और कह रहे हैं कि देखो दिवाली पर हमने तोहफा दिया।”

किसान नेता राकेश टिकैत यहीं नहीं रुके। उन्होंने सरकार को घेरते हुए आगे कहा, “ये किसानों के लिए अगर तोहफा है तो गैस सिलेंडर पर क्या हुआ? और चीजों पर क्या होगा? 100 रुपये करके 10 रुपये घटा रहे हैं। उसी हिसाब से फसलों के दाम भी बढ़ा दो।” उनकी बात पर रिपोर्टर ने पूछा, “थोड़ी बहुत तो राहत मिली ना?” इसपर किसान नेता ने कहा, “हां सांस लेने के लिए मिल गई है।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।