scorecardresearch

BJP कहती है किसान सपा नहीं, हमारे साथ खुश रहेगा- बोले न्यूज एंकर तो राकेश टिकैत ने दिया जवाब, पश्चिमी UP के माहौल का किया खुलासा

भाजपा नेता ने कहा कि किसान सपा के साथ नहीं उनके साथ खुश रहेगा। इस बात पर किसान नेता राकेश टिकैत ने जबरदस्त जवाब दिया।

Rakesh Tikait
बीकेयू नेता राकेश टिकैत (फोटो- @ANI)

उत्तर प्रदेश में चुनाव के दिन जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, वैसे-वैसे ही सियासी हलचलें भी तेज होती चली जा रही हैं। पूर्वांचल के बाद अब पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लोगों का दिल जीतने के लिए सत्ताधारी दल पूरजोर कोशिश कर रह है। हाल ही में चुनाव के सिलसिले में ही गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश का दौरा कर जाट समुदाय के साथ बैठक भी की थी, जिसमें उन्होंने जयंत चौधरी को न्योता देने के साथ-साथ जाटों और बीजेपी के रिश्ते पर भी जोर दिया था। अब इस मामले पर किसान नेता राकेश टिकैत ने भी चुप्पी तोड़ी है।

किसान नेता राकेश टिकैत ने न्यूज 24 को इंटरव्यू दिया, जहां उनसे अमित शाह द्वारा जयंत चौधरी को पार्टी में आने का न्योता देने और भाजपा सरकार द्वारा किसानों की खुशी का दावा करने पर बात की। किसान नेता राकेश टिकैत से न्यूज एंकर ने सवाल किया, “अमित शाह ने अपने घर पर जाट नेताओं को मिलने के लिए बुलाया था और बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि जयंत चौधरी ने गलत घर चुन लिया है।”

इस बात पर प्रतिक्रिया देते हुए किसान नेता ने कहा, “किसी जाति के लोगों को बुलाया है तो जाति संगठन का जो अध्यक्ष होगा, उससे बात करो। मैं तो अध्यक्ष हूं नहीं।” उनकी बात पर न्यूज एंकर ने पूछा, “जाट और किसान, मुद्दे आपस में जुड़े तो हुए ही हैं।” इसका जवाब देते हुए भाकियू नेता ने कहा, “दोनों अलग-अलग हैं, खेती मुस्लिम भी करते हैं, उन्हें भी बुलवा लेते। किसान की बात करनी है तो उनसे भी करो, लेकिन एक ही जाति को क्यों लक्ष्य बना रहे हैं।”

न्यूज एंकर ने किसान नेता से आगे सवाल किया, “संजीव बालियान कह रहे थे कि जाट समुदाय को अपनी सुरक्षा चाहिए तो वह भाजपा के साथ ही मिलेगी और किसान भी भाजपा के साथ ही खुश रहेगा, सपा के साथ नहीं।” इस बात का जवाब देते हुए राकेश टिकैत ने कहा, “किसान की बात कर रहे हैं तो 13 महीने का आंदोलन चलाकर जिसे जहां वोट देना है वो दे लेगा।”

राकेश टिकैत ने अपने बयान में आगे कहा, “पिछले साल 22 जनवरी, 2021 से ही भारत सरकार की हम तलाश कर रहे हैं। एक साल से तो हमें भारत सरकार मिली नहीं, कहां रहती है और आपको कहीं मिले तो उन्हें बोलना कि हम उनसे बात करना चाहते हैं।” इससे इतर किसान नेता ने पश्चिमी यूपी में बने चुनावी माहौल पर भी चर्चा की।

दरअसल, न्यूज एंकर ने उनसे पूछा, “पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसानी पर वोट पड़ेगा, जातियों पर नहीं?” इसके जवाब में किसान नेता ने कहा, “जाति-धर्म से अलग विकास, अस्पताल, बिजली, रोजगार के नाम पर वोट चलेगा। भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। बुढाने में फोगिंग के नाम पर 50 करोड़ का घोटाला हुआ, यह भी एक बार जांच करवा लेंगे।”

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट