scorecardresearch

महंत योगी की सरकार ठीक चली या खराब? सवाल पर राकेश टिकैत ने दिया ऐसा जवाब, मुस्कुराने लगे अमिश देवगन

राकेश टिकैत से अमिश देवगन ने सवाल किया कि महंत योगी की सरकार बीते पांच सालों में अच्छी रही या खराब? इस बात का जवाब देने से किसान नेता भी पीछे नहीं हटे।

Rakesh Tikait CM Yogi
किसान नेता राकेश टिकैत (बाएं), सीएम योगी आदित्यनाथ (दाएं)। (फोटो सोर्स – पीटीआई)

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी दल भाजपा सहित अन्य विपक्षी पार्टियां भी पुरजोर तैयारी में लगी हुई हैं। प्रदेश की गद्दी अपने नाम करने के लिए सभी एड़ी-चोड़ी का जोर लगा रही हैं। यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव के बीच किसान नेता राकेश टिकैत भी खूब सक्रिय नजर आ रहे हैं। यूं तो उन्होंने चुनाव लड़ने से साफ इंकार कर दिया है, लेकिन वह सत्ताधारी दल को घेरने का एक भी मौका नहीं छोड़ते। यूपी चुनाव को लेकर राकेश टिकैत ने न्यूज 18 को इंटरव्यू दिया था।

इंटरव्यू के बीच न्यूज एंकर अमिश देवगन ने उनसे सवाल किया कि सीएम योगी की सरकार उन्हें कैसी लगी। अमिश देवगन ने किसान नेता से पूछा, “योगी जी महंत हैं। महंत योगी जी की सरकार ठीक चली या खराब? आप तो उत्तर प्रदेश के नागरिक हैं।” उनका जवाब देते हुए किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, “अपने मूल स्थान पर चुनाव लड़ने के लिए चले गए ना। वहां पर चुनाव लड़ें, जीतना चाहिए उन्हें।”

राकेश टिकैत की बात पर उन्हें घेरते हुए अमिश देवगन ने पूछा, “मतलब आप कह रहे हैं कि योगी जी विपक्ष में आएंगे इस बार।” उनकी बात के जवाब में किसान नेता ने कहा, “मैं ये कहां कह रहा हूं कि वह विपक्ष में आएंगे। हम तो यह कह रहे हैं कि विपक्ष में मजबूत आदमी चाहिए। योगी जी और जो मजबूत आदमी है उसे जीतना चाहिए।”

राकेश टिकैत ने अपनी बात बढ़ाते हुए आगे कहा, “सत्ता में रहो या विपक्ष में रहो। मजबूत आदमी को हारना नहीं चाहिए।” इससे इतर अमिश देवगन ने किसान नेता से सवाल किया, “चुनाव में आप किसी राजनैतिक दल के साथ खड़े हैं या किसी के भी साथ नहीं खड़े?”

न्यूज एंकर की बात का जवाब देते हुए राकेश टिकैत ने कहा, “हमारा कोई नहीं है। हमारा केवल संगठन से मतलब है। संगठन मजबूत रहेगा, चाहे कोई भी पार्टी आए। संगठन ठीक रहे, जिसकी भी सरकार रहेगी, हम बातचीत उन्हीं से करेंगे।” बता दें कि एबीपी को दिए इंटरव्यू में भी राकेश टिकैत ने कहा था कि सीएम योगी ने उनके साढ़े तीन काम किये हैं, लेकिन गन्ना भुगतान के मामले में वह मायावती और अखिलेश यादव से पीछे हैं।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट