अल्लाह-हू-अकबर का नारा लगाने के बाद मिल रहीं गालियां, बदलना पड़ा नंबर- राकेश टिकैत का दावा, बोले- आईटी सेल ने सार्वजनिक किया नंबर

राकेश टिकैत ने बताया कि नारे लगाने के बाद से ही लोग उन्हें फोन करके गालियां दे रहे हैं। उन्होंने आईटी सेल पर नंबर सार्वजनिक करने का आरोप लगाया।

Farmer Law, Farmer
किसान नेता राकेश टिकैत (फोटो सोर्स – पीटीआई)

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैट बीते पांच सितंबर को मुजफ्फरनगर में हुई किसानों की महापंचायत में शामिल हुए थे। उन्होंने पंचायत में लोगों का संबोधन करते हुए भाजपा पर जमकर निशाना साधा था। इसके साथ ही टिकैत ने मंच से हर हर महादेव व अल्लाह हू अकबर के नारे भी लगवाए थे। इन नारों को लेकर किसान नेता काफी सुर्खियों में आ गए थे। वहीं बीते दिन ‘आज तक’ को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि ‘अल्लाह हू अकबर’ के नारे लगाने के बाद से ही उनके पास लगातार कॉल आ रहे हैं और लोग उन्हें गाली भी दे रहे हैं।

राकेश टिकैत ने इंटरव्यू में बताया कि उन्होंने नंबर बदल लिया है। साथ ही किसान नेता ने आईटी सेल पर भी आरोप लगाए। राकेश टिकैत से रिपोर्टर ने सवाल किया था कि मुजफ्फरनगर में दिया गया आपका नारा खूब चर्चा में है। इस बारे में किसान नेता ने कहा, “नारे में आखिर दिक्कत क्या है? ये नारे वो हैं जो संविधान में हैं। अगर हमने नारा गलत लगाया है तो हमारे ऊपर केस कर दो।”

राकेश टिकैत ने इस बारे में बात करते हुए आगे कहा, “नारे भी हम न लगाएं। देश में जुबान पर पाबंदी लगाने का सवाल तो नहीं आ गया ना। देश में इस तरह की सरकारें तो नहीं आ गईं, जो इन्हें प्रतिबंधित कर रही हैं। जिस तरह से वीडियो शेयर कर 10-20 हजार लोग फोन कर रहे हैं, गाली-गलौज कर रहे हैं। पूरे परिवार के नंबर सार्वजनिक कर रहे हैं ये लोग।”

राकेश टिकैत ने इंटरव्यू में आगे कहा, “आईटी सेल का मतलब यह नहीं कि आप किसी की निजता में दखल दोगे। हमारा क्या है, हम तो नंबर बंद कर देंगे, दूसरा ले लेंगे। हमने तो नंबर अपना बदल ही दिया है।” किसान नेता की बात सुनकर रिपोर्टर ने सवाल किया, “आपके पास फोन आ रहे हैं?” इसका जवाब देते हुए किसान नेता ने कहा, “मैं आपको दे देता हूं, आप उसे चैनल पर चलाते रहना।”

राकेश टिकैत यहीं नहीं रुके। उन्होंने इस बारे में आगे कहा, “आप अपने चैनल पर दिखाते रहना, जहां उसका नाम भी आएगा और लोगों को भी सुनाते रहना। असल में उनका कोर्स चलता रहता है और अभी कोर्स ‘हर हर महादेव’ व ‘अल्लाह हू अकबर’ पर चल रहा है। उसमें से कुछ शब्द काट दिए और कुछ रख लिए।” किसान नेता ने सवाल करते हुए कहा, “क्या देश में कोई नारा प्रतिबंधित है। देश में रहने का क्या किसी को अधिकार नहीं है क्या। संविधान में अधिकार है कि जो जैसे पूजा पद्धति करेगा, उसका सम्मान होगा। लेकिन ये तोड़ने का काम करते हैं और हम जोड़ने का काम करते हैं।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।