ऋतिक रोशन के फिल्मों में डेब्यू के बाद पिता राकेश रोशन पर चल गई थीं गोलियां, जानिये क्या थी वजह

फिल्म डायरेक्टर और ऋतिक रोशन के पिता राकेश रोशन पर जानलेवा हमला हुआ था। दरअसल, फिल्म रिलीज के बाद दर्शकों से ‘कहो ना प्यार है’ को गजब का रिस्पॉन्स मिल रहा था।

Rakesh Roshan, राकेश रोशन, ऋतिक रोशन, Rakesh Roshan
राकेश रोशन बेटे और बॉलीवुड एक्टर ऋतिक रोशन के साथ (फोटो सोर्स- इंस्टाग्राम ऋतिक रोशन)

साल 2000 में ऋतिक रोशन ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में जबरदस्त एंट्री मारी थी। ऋतिक रोशन फिल्म ‘कहो ना प्यार है’ की रिलीज के बाद रातों-रात सुपरस्टार बन गए थे। इस फिल्म ने एक हफ्ते में बेशुमार दौलत कमाई थी। लेकिन इसी बीच फिल्म के डायरेक्टर के साथ एक बहुत बड़ी घटना घट गई। फिल्म डायरेक्टर और ऋतिक रोशन के पिता राकेश रोशन पर जानलेवा हमला हुआ था। दरअसल, फिल्म रिलीज के बाद दर्शकों से ‘कहो ना प्यार है’ को गजब का रिस्पॉन्स मिल रहा था।

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म जम कर कमाई कर रही थी। ऐसे में राकेश रोशन की फाइनेंशियल कंडीशन पहले से बेहतर होने लगी। कुछ फिल्मों में पैसा लगाने की वजह से राकेश रोशन का काफी पैसा डूब गया था, जिससे कि ‘कहो ना प्यार’ है ने उनकी डूबती नैया बचा ली। सब कुछ अच्छा चल रहा था, कि एक शाम अचानक जब अपने ऑफिस से राकेश रोशन निकले तो उन्हें मारने के लिए कुछ लोगों ने उनपर हमला बोल दिया। शाम के 6.30 बजे थे। तभी कुछ माफिया आए और राकेश रोशन पर गोलियां बरसाने लगे। राकेश रोशन अपने ऑफिस के बार गोलियों से जख्मी होकर गिर गए।

कई सालों बाद ऋतिक रोशन ने इस घटना का खुद जिक्र किया था और इसके पीछे की वजह का खुलासा भी किया था। एक फॉरन सिलेब्रिटी को दिए इंटरव्यू में ऋतिक रोशन ने न केवल इस घटना के बारे में बात की थी, बल्कि ये भी बताया था कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में फिल्मों से माफिया भी कमाई का जरिए निकालते हैं।

साल 2000 में जब ऋतिक रोशन शाहरुख खान, अमिताभ बच्चन, जया बच्चन संग फिल्म ‘कभी खुशी कभी गम’ की मेकिंग पर काम कर रहे थे। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान, पॉपुलर अमेरिकी-ब्रिटिश कॉमेडियन, रूबी वैक्स भारत आए थे और KKKG के शूटिंग सेट पर पहुंचे थे। यहां वह ये जानने आए थे कि भारतीय फिल्मों के बनने का क्या प्रोसीजर होता है। इसके अलावा वह ये भी जानना चाहते थे कि भारतीय फिल्मों के निर्माण में माफियाओं की भागीदारी क्या सच में होती है या ये सिर्फ डिबेट का हिस्सा है!

तब ऋतिक रोशन ने अपने पिता संग हुए इस हादसे का जिक्र किया था- ‘माफियाओं ने उनपर गोलियां इसलिए बरसाईं क्योंकि उन्होंने उनको पैसे नहीं दिए।’ ऋतिक ने उस दिन को याद करते हुए कहा था- ‘पापा जनवरी 2000 में हमारे सांताक्रूज ऑफिस के बाहर थे। अचानक कुछ हमलावरों ने आकर पापा के ऑफिस पर छह राउंड फायरिंग की। जिसमें से उन्हें दो गोलियां लगी थीं।’

ऋतिक ने आगे खुलासा किया था कि- ‘फिल्म कहो ना प्यार है कि सक्सेस से काफी फायदा हुआ था। फिल्म ने काफी पैसा कमाया था। मेरे पिता ने फिल्में बनाने के लिए कई जगह से पैसा उठाया था। लंबे समय के लिए फिल्म अटक गई थी और पूरी नहीं हो पाई थीं। फिर कहो ना प्यार है बनी, जिसने एक हफ्ते में ही काफी कमाई कर ली थी। तो उन लोगों को पता चल गया कि राकेश रोशन को बड़ा फायदा हुआ है। अब वो सक्सेसफुल हो गए हैं औऱ अब पैसा आने वाला है। तो उनसे वो लोग पैसा लेना चाहते थे। हमने उन्हें वो पैसे नहीं दिए, तो उन्होंने पापा पर गोलियां बरसाईं।’ ऋतिक ने बताया कि- ‘इस घटना के बाद जिंदगी जीने का मेरा ढंग और लाइफ को देखने का परस्पेक्टिव बदल गया।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।