scorecardresearch

बहन की शादी में बिक गया था राजू श्रीवास्तव का घर, बाद में 10 गुना ज्यादा पैसा देकर वापस खरीदा था; पत्नी बोलीं- वो फाइटर थे…

राजू श्रीवास्‍तव का जन्‍म एक मिडिल क्‍लास फैमिली में हुआ था। कॉमेडियन के एक पड़ोसी ने बताया था कि राजू ने बहुत संघर्ष किया था यहां तक कि बहन की शादी के लिए उनका घर भी बिक गया था।

बहन की शादी में बिक गया था राजू श्रीवास्तव का घर, बाद में 10 गुना ज्यादा पैसा देकर वापस खरीदा था; पत्नी बोलीं- वो फाइटर थे…
राजू श्रीवास्तव का हार्ट अटैक के बाद निधन (Raju Srivastava/Instagram)

कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का बुधवार को दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। कॉमेडियन 42 दिनों तक अस्पताल में भर्ती थे। 10 अगस्त को दिल्ली के एक होटल में जिम में एक्सरसाइज करते हुए राजू गिर पड़े थे। उन्हें हर्ट अटैक आया था।

राजू डॉक्टरों की निगरानी में लगातार वेंटिलेटर पर थे। राजू बड़े कॉमेडियन थे लेकिन करियर के शुरूआत में उन्हें काफी बुरे वक्त का सामना करना पड़ा था। एक समय ऐसा भी था जब राजू को अपनी बहन की शादी के लिए घर बेचना पड़ गया था।

जब राजू श्रीवास्तव का बिक गया था घर

राजू श्रीवास्‍तव का जन्‍म एक मिडिल क्‍लास फैमिली कानपुर में हुआ था। उनका असली नाम सत्‍य प्रकाश श्रीवास्‍तव था,जो आगे चलकर राजू श्रीवास्‍तव के नाम से मशहूर हुए। राजू श्रीवास्तव के एक पड़ोसी ने बताया था कि राजू ने बहुत संघर्ष किया था। सन 1990 में कॉमेडिन की बहन की शादी थी। उनके पिता को पैसे की बहुत जरूरत थी, इसलिए उन्होंने तीन लाख रुपये में घर को बेच दिया और बेटी की शादी कर दी। इसके बाद पूरा परिवार कुछ दिन बारादेवी तो कुछ दिन यशोदा नगर में किराये के मकान में रहा।

राजू ने 10 गुना ज्यादा कीमत में खरीदा अपना घर

कॉमेडिन ने कुछ समय बाद जब उन्हें मुंबई में पहचान मिली तो उन्होंने अपने घर को वापिस खरीदने की पेशकश की और मकान के मालिक को मनाने में काफी समय लगा। इसके बाद साल 2000 में राजू ने अपने मकान को दोबारा 24 लाख रुपये में खरीदा। मकान खरीदने के बाद राजू के पिता फिर से परिवार के साथ अपने घर में रहने लगे। राजू के छोटे भाई की पत्नी ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि भइया पुस्तैनी मकान से बड़ा प्रेम था।

कॉमेडियन की पत्नी ने कही यह बात

राजू की पत्नी शिखा श्रीवास्तव ने ईटाइम्स से बात करते हुए कहा कि वह जिंदगी के लिए बहुत लड़े। मैं बड़ी आस लगाए हुए थी। भगवान से प्रार्थना कर रही थी कि वह इससे बाहर आएंगे, ठीक होकर घर लौट आएंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बस इतना ही कह सकती हूं कि वह एक सच्चे फाइटर थे।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.