प्रीमियर से ठीक पहले अपनी फिल्म का क्लाइमैक्स बदलने की जिद पर अड़ गए थे राजेश खन्ना, डायरेक्टर से हो गई थी बहस

‘सौतन’ जब बनकर तैयार हुई और उसके प्रीमियर का दिन भी तय हो गया तब अचानक राजेश खन्ना ने मांग कर दी कि फिल्म का क्लाइमेक्स बदला जाए।

rajesh khanna, tina munim, sawan kumar
राजेश खन्ना ने 'सौतन' में टीना मुनीम और पद्मिनी कोल्हापुरे के साथ काम किया था (Photo-Indian Express Archive)

80 का दशक आते-आते हिंदी सिनेमा जगत के सुपरस्टार राजेश खन्ना का करियर डगमगाने लगा था। उनकी फ़िल्में लगातार फ्लॉप हो रहीं थीं। अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र जैसे नए कलाकारों के आ जाने से राजेश खन्ना का स्टारडम फीका पड़ने लगा था। उन्हीं दिनों सावन कुमार ने उन्हें अपनी फिल्म ऑफर की, ‘सौतन’। फिल्म में उनकी हीरोइन थीं जीनत अमान। राजेश खन्ना ने फिल्म के लिए तो हां कर दिया लेकिन जीनत ने किन्हीं वजहों से फिल्म से इनकार कर दिया। तब राजेश खन्ना ने सावन कुमार को टीना मुनीम के नाम का सुझाव दिया।

टीना फिल्म के लिए राजी हो गईं और फिल्म की शूटिंग शुरू हुई। फिल्म में पद्मिनी कोल्हापुरे भी मुख्य भूमिका में थीं। इस फिल्म की अधिकतर शूटिंग मॉरीशस में की गई। फिल्म जब बनकर तैयार हुई और उसके प्रीमियर का दिन भी तय हो गया तब अचानक राजेश खन्ना ने मांग कर दी कि फिल्म का क्लाइमेक्स बदला जाए। इस किस्से का ज़िक्र अभिनेता अनु कपूर ने अपने रेडियो शो, ‘सुहाना सफर विद अनु कपूर’ में किया था। उन्होंने बताया था कि राजेश खन्ना ने फिल्म पूरी होने के बाद उसे अपने कुछ करीबी दोस्तों को दिखाया था।

राजेश खन्ना के ये दोस्त हर मुद्दे पर उन्हें सलाह दिया करते थे और वो उन्हीं की बात माना करते थे। जब उन्होंने अपने दोस्तों को फिल्म दिखाई तो उनसे कहा गया कि फिल्म का क्लाइमेक्स राजेश खन्ना के स्टार इमेज के हिसाब से सही नहीं है। इतना सुनकर राजेश खन्ना सावन कुमार के पास गए और उनसे कहा कि फिल्म का क्लाइमेक्स बदल दो। उसके दूसरे दिन ही फिल्म को ओवरसीज डिलीवरी के लिए भेजना था और उसी के आसपास फिल्म का प्रीमियर भी था। सावन कुमार ने राजेश खन्ना से कह दिया कि ये तो बिलकुल नामुमकिन है कि फिल्म का क्लाइमेक्स बदला जाए।

राजेश खन्ना इस बात को लेकर सावन कुमार से उलझ गए और दोनों में तीखी बहस भी हो गई। लेकिन सावन कुमार किसी तरह राजी नहीं हुए और राजेश खन्ना से कहा कि इसके प्रीमियर में अगर वो आएंगे तो उन्हें अच्छा लगेगा। राजेश खन्ना सोच में पड़ गए। उन्हें डर था कि कहीं ये फिल्म भी फ्लॉप न हो जाए। आख़िरकार वो किसी तरह प्रीमियर पर गए। वहां लोगों की भीड़ देखकर उन्हें थोड़ी ख़ुशी हुई। जब प्रीमियर के दौरान उन्होंने लोगों का रिएक्शन देखा तो वो बहुत खुश हो गए। 1983 की ये फिल्म हिट रही थी।

इसी फिल्म के दौरान राजेश खन्ना की शादीशुदा ज़िंदगी में झंझावत आए थे। उनकी पत्नी डिंपल कपाड़िया उन्हें हमेशा के लिए छोड़ गईं थीं। दरअसल राजेश खन्ना और डिंपल कपाड़िया की शादी के कुछ समय बाद ही दोनों में झगड़े शुरू हो गए थे। डिंपल अक्सर रूठकर अपनी दो बेटियों के साथ पिता के घर चली जातीं थीं। लेकिन फिर वापस आ जातीं थीं।

सौतन की शूटिंग के वक़्त डिंपल पति के साथ मॉरीशस में ही थीं। सावन कुमार ने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि राजेश खन्ना और टीना मुनीम के बीच नजदीकियां देखकर डिंपल बुरी तरह टूट गईं थीं। उन्होंने दोनों को एक बार साथ में देख लिया था और इसके बाद राजेश खन्ना को बिना बताए मॉरीशस से भारत वापस आ गईं थीं। वो राजेश खन्ना के बंगले ‘आशीर्वाद’ में न जाकर अपने पिता के घर चलीं गईं थीं। कहा जाता है कि मॉरीशस से वापस आने के बाद टीना मुनीम राजेश खन्ना के साथ उनके घर में रहने लगीं थीं।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।