ताज़ा खबर
 

ऐसा भी इम्तिहान न लो…एक के बाद एक फिल्में पिटने लगीं तो बड़बड़ाने लगे थे राजेश खन्ना, कुछ ऐसी हो गई थी हालत

राजेश खन्ना की जिंदगी में एक वक्त ऐसा भी आया, जब उनकी फिल्में फ्लॉप होने लगी थीं। इस बात से एक्टर इतने परेशान हो गए थे कि उन्होंने भगवान पर ही चिल्लाना शुरू कर दिया था।

राजेश खन्ना ने परेशान होकर भगवान से की थी शिकायत (फोटो सोर्स- राजेश खन्ना फैनपेज इंस्टाग्राम)

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर राजेश खन्ना ने अपनी फिल्मों से लोगों का दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। उन्हें हिंदी सिनेमा का पहला सुपरस्टार भी कहा जाता है। लोगों में उनका क्रेज इस कदर था कि वह अपना रुमाल फेंकते थे तो लोग उसे उठाने के लिए आ जाते थे। लेकिन स्टारडम का यह दौर राजेश खन्ना की जिंदगी में हमेशा ही ऐसा नहीं रहा था। एक वक्त ऐसा भी था, जब राजेश खन्ना की फिल्में फ्लॉप होने लगी थीं। इस बात से एक्टर इतने परेशान हो गए थे कि उन्होंने भगवान पर ही चिल्लाना शुरू कर दिया था।

राजेश खन्ना ने साल 1990 में एक मूवी मैगजीन को इंटरव्यू दिया था, जिसमें उन्होंने अपने स्टारडम और असफलता को लेकर काफी बातें कीं। राजेश खन्ना ने अपनी सफलता को लेकर कहा, “मुझे अभी भी याद है वो पल, जब मुझे यह पहली बार मालूम चला था कि सफलता कितनी शानदार हो सकती है। यह आपको पूरी तरह से पागल बना सकती है।”

राजेश खन्ना ने इस बारे में बात करते हुए आगे कहा, “ऐसा फिल्म ‘अंदाज’ के बाद हुआ था। जब मैंने 10 मील दूर तक सड़क किनारे खड़े केवल लोगों के केवल सिर देखे। वहां काफी भीड़ थी और लोग चिल्ला रहे थे। यह बिल्कुल एक स्टेडियम के नजारे की तरह लग रहा था। ऐसा माहौल देख मैं बच्चों की तरह रोने लगा था।”

राजेश खन्ना ने इंटरव्यू में अपनी असफलता को लेकर भी चर्चा की। उन्होंने कहा, “मेरे पेट के लिए यह काफी था, क्योंकि यह पहली बार था जब मैंने जिंदगी में असफलता देखी थी। एक के बाद एक और फिर सात फिल्में लगातार फ्लॉप हो गईं। बारिश हो रही थी, आसमान में बादल गरज रहे थे और मैं छत पर अकेला मौजूद था।”

राजेश खन्ना ने इंटरव्यू में कहा, “उसी वक्त मैंने अपना आपा खो दिया और मैं भगवान पर चिल्ला पड़ा। मैंने कहा कि परवरदिगार, हम गरीबों का इतना सख्त इम्तिहान ना ले कि हम तेरे वजूद को ही इंकार कर दें।” एक्टर ने बताया कि मेरी आवाज सुनते ही डिंपल और स्टाफ दौड़े चले आए। वह इस बात से घबरा गए थे कि मुझे आखिर हो क्या गया है।

राजेश खन्ना यही नहीं रुके। उन्होंने आगे बताया कि ऐसा मेरे साथ इसलिए हुआ, क्योंकि सफलता ने मुझे बहुत प्रभावित कर दिया था और मैं फेलियर को संभाल नहीं पाया। बता दें कि राजेश खन्ना को लेकर ऐसा भी कहा जाता था कि जहां भी वह जाते थे लोग उनकी गाड़ी को घेरकर खड़े हो जाते थे। उनका स्टारडम ऐसा था कि लड़कियां उन्हें खून से खत लिखकर भी भेजा करती थीं।

Next Stories
1 मेरी फिल्मों को बैन कर देना चाहिए- एक्ट्रेस नहीं बल्कि यह बनना चाहती थीं ट्विंकल खन्ना, मां-बाप के कारण रखा था फिल्मों में कदम
2 भगवान करे कभी किसी का बेटा एक्टर न बने- धर्मेंद्र के अभिनेता बनने पर बोल पड़ीं थीं उनकी मां, इस बात से थीं परेशान
3 अमिताभ बच्चन ने डैनी डेन्जोंगपा को बताया दोस्त तो भड़क गईं थीं परवीन बॉबी, तोड़ लिया था रिश्ता
ये पढ़ा क्या?
X