मैं तुम्हारा बाप हूं सेक्रेटरी नहीं- जब ऋषि कपूर से बोल पड़े थे राज कपूर, एक्टर ने सुनाया था किस्सा

ऋषि कपूर ने अपन एक इंटरव्यू में बताया था कि राज कपूर कभी भी उनकी पढ़ाई से लेकर करियर तक में दखलअंदाजी नहीं करते थे।

rishi kapoor, raj kapooor
बॉलीवुड एक्टर राज कपूर और ऋषि कपूर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर राज कपूर ने अपनी फिल्मों और अपने अंदाज से हिंदी सिनेमा में जबरदस्त पहचान बनाई थी। राज कपूर को हिंदी सिनेमा का ‘शो मैन’ भी कहा जाता था। एक्टर के साथ-साथ उनके तीनों बेटों ने भी एक्टिंग में अपना हाथ आजमाया था। बॉलीवुड में ऋषि कपूर को लॉन्च करने वाले भी राज कपूर ही थे। हालांकि पिता द्वारा लॉन्च करने के बाद सिनेमा में अपनी बाकी की राह ऋषि कपूर ने खुद ही तय की थी। अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि पिता ने कभी भी उनके स्कूल से लेकर करियर तक में, दखलअंदाजी नहीं की थी।

द प्रिंट को दिए इंटरव्यू में ऋषि कपूर ने बताया था कि उनके पिता राज कपूर उनसे यह तक कहते थे कि वह उनके पिता हैं, सेक्रेटरी नहीं। इस बारे में बात करते हुए एक्टर ने कहा था, “लोग अकसर मुझसे पूछते थे कि मैंने एक्टिंग कहां से सीखी थी। मैं हमेशा उनसे कहता था कि कपूर से बड़ा संस्थान कोई नहीं हो सकता है। मेरे पिता ने तो कभी मेरे लिए सब्जेक्ट तक नहीं चुने थे।”

राज कपूर के बारे में बात करते हुए ऋषि कपूर ने कहा था, “उनका मानना था कि उनकी ड्यूटी मात्र उन्हें लॉन्च करने तक ही थी। वह कहते थे, ‘मैंने इस लड़के को ब्रेक दे दिया है और अब यह अपनी राह खुद ही तय करेगा। यह गिरेगा, उठेगा और अपना ध्यान खुद ही रखेगा। इसी तरह यह जिंदगी के असल मायने सीखेगा।’ उन्होंने मुझसे भी कहा था, ‘मैं तुम्हारा बाप हूं, तुम्हारा सेक्रेटरी नहीं।”

इंटरव्यू में ऋषि कपूर ने बताया था कि पिता से मिली हुई सीख को वह अपने बेटे रणबीर कपूर को भी देते थे। उन्होंने इस बारे में कहा था, “मैंने यह चीजें अपने बेटे के साथ भी बनाए रखी थी। मैं इंडस्ट्री को जानता हूं और मैंने बहुतों के साथ काम भी किया है। हर कोई मुझे कॉल करता था और मुझे उनसे एक ही चीज कहनी पड़ती थी। मैं कहता था, ‘मैं उसका पिता हूं, उसका सेक्रेटरी नहीं।”

बता दें कि ऋषि कपूर अपने पिता राज कपूर से बहुत डरते थे। उनसे जुड़ी इस बात का खुलासा सिमी गरेवाल ने किया था। सिमी गरेवाल ने बताया था, “वह चिंटू के साथ बहुत सख्त थे। मुझे नहीं लगता कि मैंने कभी भी उन्हें चिंटू को साबाश कहते सुना होगा। और चिंटू भी अपने पिता से काफी ज्यादा डरता था।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट