ताज़ा खबर
 

Happy Birthday Prateik Babbar: टूटे दिल और बिखरे रिश्तों ने ऐसा तोड़ा कि ड्रग्स की दुनिया में तलाशने लगे थे सुकून

कहा यह भी जाता है कि प्रतीक बब्बर अपने पिता से नफरत करते थे। दरअसल प्रतीक के जन्म के बाद उनकी मां स्मिता पाटिल का देहांत हो गया था और प्रतीक अपने नाना-नानी के पास ही पले बढ़े।

प्रतीक बब्बर और स्मिता पाटिल। फोटो सोर्स- इंडियन एक्स्प्रेस

साल 2008 में आई बॉलीवुड फिल्म ‘जाने तू या जाने ना’ से अपने फिल्मी करियर का आगाज करने वाले एक्टर प्रतीक बब्बर आज 31 साल के हो गए हैं। प्रतीक बब्बर ने इस फिल्म में जेनेलिया देशमुख के भाई का किरदार निभाया था। इस रोल के लिए उनकी काफी प्रशंसा भी हुई थी। प्रतीक ने इसके बाद भी कई फिल्में की लेकिन इन फिल्मों से वो अपनी पहचान नहीं बना सके। आज बात इस अभिनेता के फिल्मी करियर से इतर इस अभिनेता की जिंदगी से जुड़े उस पहलू की करेंगे जिसने उसे गुमनामी की अंधेरे में ढकेल दिया। प्रतीक को पिता और एक्टर राज बब्बर से एक्टिंग तो विरासत में मिली थी लेकिन आखिर क्या वजह रही कि इस युवा टैलेंट की जिंदगी नशे के गिरफ्त में चली गई। प्रतीक बब्बर अभिनेता राज बब्बर की दूसरी पत्नी स्मिता पाटिल के बेटे हैं। राज बब्बर ने अपनी पहली पत्नी नादिरा की मौत के बाद दूसरी शादी कर ली थी।

जब प्रतीक फिल्मी दुनिया से दूर हुए तो यह खबर आई कि वो उन्हें ‘ड्रग्स’ की लत लग गई है। इसके बाद एक साक्षात्कार में अभिनेता ने खुद बताया कि कैसे वो अपने टूटे दिल और अपनों से ही बिखरे रिश्तों के उधेड़बुन में पड़े और फिर इस खतरनाक लत ने उन्हें अपनी आगोश में ले लिया। प्रतीक बब्बर ने बताया था कि बचपन से मेरे दिमाग में यह बात कौंधती थी कि ‘मैं कौन हूं और कहां से आया हूं?’ 13 साल की उम्र में दिल में उठे इस सवाल का जब मुझे जवाब नहीं मिला तो मैं ड्रग्स की तरफ मुड़ गया। छोटी उम्र से नशे के आदी प्रतीक बब्बर ने खुद बताया था कि जब वो कॉलेज के फर्स्ट ईयर में थें तब उन्होंने एसिड, कोकेन और एक्सटेसी ड्रग्स भी लिया था। प्रतीक को नशे ने अपना गुलाम बना लिया था। जब कभी वो नशे में नहीं होते तो सिर्फ नशे के बारे में ही सोचते और फिर नशा लेकर ही रुकते थे।

प्रतीक बब्बर और स्मिता पाटिल। फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

कहा यह भी जाता है कि प्रतीक बब्बर अपने पिता से नफरत करते थे। दरअसल प्रतीक के जन्म के बाद उनकी मां स्मिता पाटिल का देहांत हो गया था और प्रतीक अपने नाना-नानी के पास ही पले बढ़े। उम्र के एक पड़ाव पर प्रतीक की जिंदगी में प्यार ने भी दस्तक दिया। कहा जाता है कि प्रतीक एक्ट्रेस एमी जैक्सन के प्यार में भी पड़े। लेकिन जल्दी ही यह प्यार भी अधूरा रह गया। प्यार के अधूरेपन और बिखरे रिश्तों ने ही प्रतीक बब्बर को नशे की दुनिया में ला खड़ा किया।

लेकिन कहते हैं वक्त कई जख्मों को भर देता है। इस अभिनेता ने अपनी जिंदगी में ड्रग्स की भूमिका को खुलकर स्वीकारा और शायद यहीं वजह रही कि मजबूत इरादों ने प्रतीक बब्बर को इस ड्रग्स से लड़ने की ताकत भी दी। प्रतीक अब ड्रग्स से दूर हैं और नई शुरुआत करने के लिए तैयार भी जिसका नमूना उन्होंने हाल ही रिलीज हुई अपनी फिल्म ‘मुल्क’ में बेजोड़ एक्टिंग कर दिखाया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App