ताज़ा खबर
 

राज बब्बर, स्मिता पाटिल और नादिरा: ऐसा लव ट्राएंगल जिसने कई जिंदगियों पर अंदर तक डाला असर

नादिरा ने शुरू में जब राज बब्बर और स्मिता के रिश्ते के बारे में सुना तो उन्हें यकीन नहीं हुआ। लेकिन जब राज ने खुद उनके सामने यह बात कबूली तो नादिरा बिखर गईं।

अभिनेता राज बब्बर ने दो शादियां की थी।

अभिनेता राज बब्बर ने दो शादियां की थी। लेकिन ऐसा भी नहीं कि इस लव ट्राएंगल में सबकुछ अच्छा रहा। राज बब्बर की लव स्टोरी ने कई जिंदगियों पर भीतर तक असर डाला। खासकर स्मिता पाटिल और राज बब्बर के बेटे प्रतीक बब्बर की जिंदगी में इस ट्राएंगल ने बुरा असर डाला था। आज इस लव ट्राएंगल से जुड़ी कई खास बातों से हम आपको रुबरु कराएंगे। राज बब्बर और नादिरा दोनों ही नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा, दिल्ली के छात्र थे। नादिया राज बब्बर से 4 साल सीनियर थीं। जिस वक्त राज बब्बर थियेटर की दुनिया में अपना पांव जमाने की कोशिश कर रहे थे उस वक्त नादिरा अपने प्ले के लिए लिखती भी थीं और उन्हें निर्देशित भी करती थीं। नादिरा के लिखे एक प्ले में राजबब्बर को काम करने का मौका मिला और यहीं से शुरू हुई इन दोनों की लव स्टोरी। साल 1975 में राज बब्बर से शादी के बाद नादिरा ज़हीर बन गईं नादिरा बब्बर।

शादी के बाद दोनों दिल्ली में ही रहते थे और दिल्ली में उनकी पहली बेटी जूही बब्बर का जन्म भी हुआ। उस वक्त राज बब्बर पैसों की जबरदस्त किल्लत से गुजर रहे थे लिहाजा उन्होंने अपनी पुरानी स्कूटर 6000 रुपए में बेच दी और यह रकम अपनी पत्नी को देकर करियर बनाने के लिए मुंबई की तरफ चल पड़े। जल्दी ही मायानगरी में राज बब्बर का सिक्का चल पड़ा और फिर उन्होंने साल 1979 में अपनी पत्नी नादिरा को मुंबई आने के लिए कहा। हालांकि दिल्ली में काम की व्यवस्तता की वजह से नादिरा पूरी तरह से मुंबई में शिफ्ट नहीं हो पाईं। साल 1981 में इन दोनों के घर फिर खुशी आई और जन्म हुआ आर्य बब्बर का। इसी साल नादिरा ने मुंबई में अपना थियेटर ग्रुप ‘एकजुट’ बनाया। यह थियेटर ग्रुप आज भी मुंबई में काफी मशहूर है।

मुंबई में अभिनेता राज बब्बर की मुलाकात अभिनेत्री स्मिता पाटिल से सााल 1982 में फिल्म ‘भीगी रातें’ की सेट पर हुई। एक साक्षात्कार में इस मुलाकात के बारे में राज बब्बर ने बताया था कि ओडिशा के राउरकेला में फिल्म की शूटिंग के दौरान उनकी पहली मुलाकात हुई थी। हालांकि पहली मुलाकात के वक्त दोनों के बीच मजाक-मजाक में थोड़ी तकरार भी हुई थी लेकिन राज बब्बर ने खुद कहा था कि उस वक्त स्मिता पाटिल की जुबां से निकले शब्द ‘जाओ’ से मैं काफी प्रभावित हुआ था। पहली मुलाकात के बाद राज बब्बर इस बेहद ही खूबसूरत अभिनेत्री के प्यार में गिरफ्तार हो गए और फिर दोनों ने शादी रचाने का फैसला कर लिया। राज बब्बर ने कहा था कि नादिरा की समस्याओं की वजह से स्मिता पाटिल से उनका रिश्ता नहीं जुड़ा। नादिरा मेरे फिलिंग्स को समझ सकती हैं। जूही, स्मिता के साथ रहना पसंद करेगी।

इधर नादिरा ने शुरू में जब राज बब्बर और स्मिता के रिश्ते के बारे में सुना तो उन्हें यकीन नहीं हुआ। लेकिन जब राज ने खुद उनके सामने यह बात कबूली तो नादिरा बिखर गईं। साल 2013 में एक इंटरव्यू में नादिरा ने कहा था कि जब उन्होंने यह बात सुनी तो उनका सबसे बड़ा डर सच साबित हुआ, वो टूट गईं। बाद में बच्चों के भविष्य के बारे सोचकर उन्होंने अपनी बिखरती जिंदगी को बड़ी मुश्किल से संभाला। उन्होंने बताया था कि थियेटर और मेरे बच्चों ने मुझे संभाला। मैं अपने बच्चों की सुरक्षा के बारे में फिक्र करने लगी खासकर आर्या के बारे में क्योंकि वो काफी जवान था।

राज बब्बर से शादी रचाने के बाद स्मिता की जिंदगी में भी कई सारी समस्याएं आईं। कई लोग स्मिता को होम ब्रेकर (घर तोड़ने वाली) कहने लगे। शादी के शुरुआती महीनों में इस कपल को कई लोगों के ताने सुनन पड़े। साल 1986 में स्मिता पाटिल ने अपने बेटे प्रतीक बब्बर को जन्म दिया लेकिन बेटे के जन्म के समय कुछ बीमारियों की वजह से स्मिता पाटिल का निधन महज 31 साल की उम्र में हो गया। स्मिता के निधन से राज बब्बर को गहरा आघात लगा था और तब उस वक्त नादिरा ने सभी को चौंकाते हुए ना सिर्फ राज बब्बर को संभाला बल्कि अपनी बाहें खोलकर उन्हें अपनाया भी।

इधऱ स्मिता और राज के बेटे प्रतीक बब्बर अपने दादा-दादी के पास परवरिश के लिए चले गए। लेकिन छोटी उम्र में मां के निधन और पिता से अलगाव ने प्रतीक को मानसिक रुप से तोड़ डाला। प्रतीक बब्बर ने खुद एक इंटरव्यू में कहा था कि जब वो छोटे थे तब उनके पिता राज बब्बर उन्हें काफी कम समय देते थे। प्रतीक ने खुद बताया था कि रिश्तों में बिखराव की वजह से वो कम उम्र में ही नशे के आदी हो गए थे। प्रतीक बुरी तरह से ड्रग्स के चंगुल में फंस गए थे। लेकिन दादी के निधन के बाद प्रतीक धीरे-धीरे अपने पिता के करीब आए और फिर धीरे-धीरे वो इस लत से बाहर आ सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App