जहर फैलाने का दोष मोदी जी पर…आपके हाथ भी खून से रंगे हैं- राहुल गांधी ने ‘अमृत महोत्सव’ पर उठाया सवाल तो बोले फिल्ममेकर

राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि जब देश में नफरत फैलाई जा रही है तब अमृत महोत्सव कैसा। उनकी इस टिप्पणी पर बॉलीवुड फिल्ममेकर अशोक पंडित ने उन्हें आड़े हाथों लिया है।

rahul gandhi, narendra modi, ashoke pandit
'आज़ादी का अमृत महोत्सव' के बहाने राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है (File Photo)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के बहाने एक बार फिर नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि जब देश में नफरत फैलाई जा रही है तब अमृत महोत्सव कैसा। उनकी इस टिप्पणी पर बॉलीवुड फिल्ममेकर अशोक पंडित ने उन्हें आड़े हाथों लिया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि सिखों और कश्मीरी हिंदुओं का नरसंहार करने वाले राहुल गांधी के हाथ भी खून से रंगे हैं।

राहुल गांधी ने हालिया असम हिंसा के संदर्भ में एक ट्वीट के ज़रिए नरेंद्र मोदी सरकार पर टिप्पणी की है जिसमें उन्होंने लिखा, ‘जब देश में नफ़रत का ज़हर फैलाया जा रहा है तो कैसा अमृत महोत्सव? अगर सबके लिए नहीं है तो कैसी आज़ादी?’

उनके इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए अशोक पंडित ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, ‘सिखों और कश्मीरी हिंदुओं का देश में नरसंहार करने वाले अब नफ़रत और ज़हर फैलाने का दोष मोदी जी पर लगा रहे हैं। राहुल बाबा आपके हाथ खून से रंगे हुए हैं! वो चीखें आज भी हमारे कानों में गूंज रही हैं। कुछ तो शर्म करो!’

राहुल गांधी के ट्वीट पर बीजेपी आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय ने भी उन्हें घेरा है। अमित मालवीय ने राहुल गांधी के ट्वीट के जवाब में अपने एक ट्वीट में लिखा कि राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी जिन शब्दों का इस्तेमाल कर भारत का वर्णन करते हैं वैसे ही शब्दों का इस्तेमाल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भारत के वर्णन के लिए करते हैं।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘भारत का वर्णन करने के लिए कांग्रेस पार्टी, राहुल गांधी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के नैरेटिव और शब्दों में भयानक समानता पर ध्यान दें। तथ्य ये है कि भारत की सबसे बड़ी पार्टी देश के हितों के विरुद्ध जाकर लोगों के साथ काम कर रही है जो कि एक समस्या है।

बता दें ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ भारत की आज़ादी के 75 साल पूरे होने के अवसर पर मनाया जा रहा है। कुछ समय पहले जब इस महोत्सव का पोस्टर जारी किया गया था तब भी काफी विवाद हुआ था। पोस्टर से देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर गायब थी जिस पर कांग्रेस ने सवाल उठाए। राहुल गांधी ने सोशल मीडिया पर नेहरू की तस्वीर साझा कर बीजेपी पर कटाक्ष किया था और कहा था कि देश के प्यारे पंडित नेहरू को लोगों के दिलों से कैसे निकाला जा सकेगा।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।