ताज़ा खबर
 

वो लोग राजा और हम रंक… राहुल गांधी ने लगाया था झूठ बोलने का आरोप तो बिफर गए थे अमिताभ बच्चन; यूं दिया था ज़वाब

Amitabh Bachchan: इस मामले में बाद में सुप्रीम कोर्ट ने अमिताभ को क्लीन चिट भी दे दी थी। लेकिन दोनों परिवारों के बीच रिश्ते में खटास की शुरुआत यहीं से हुई। हालांकि तब तक इतनी दूरी..

कांग्रेस नेता राहुल गांधी, दूसरी तरफ अमिताभ बच्चन (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

इलाहाबाद से शुरू हुई नेहरू-गांधी और बच्चन परिवार की दोस्ती दिल्ली के सियासी गलियारों तक भी जारी रही। साल 1984 में अमिताभ बच्चन, राजीव गांधी के कहने पर सियासी अखाड़े में उतरे। इलाहाबाद से लोकसभा का चुनाव लड़ा और अच्छे खासे अंतर से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे। हालांकि 3 साल बाद ही जब बोफोर्स घोटाले में उनका नाम घसीटा जाने लगा तो उन्होंने इस्तीफा देकर सियासत से किनारा करना ही बेहतर समझा।

इस मामले में बाद में सुप्रीम कोर्ट ने अमिताभ को क्लीन चिट भी दे दी थी। लेकिन दोनों परिवारों के बीच रिश्ते में खटास की शुरुआत यहीं से हुई। हालांकि तब तक इतनी दूरी नहीं आई थी। लेकिन साल 1991 में राजीव गांधी की हत्या के बाद दोनों परिवारों के बीच दरार साफ-साफ दिखने लगी। यह दूरी तब और बढ़ गई जब अमिताभ बच्चन की कंपनी दिवालिया हो गई थी और वह आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे थे।

बच्चन परिवार को उम्मीद थी कि गांधी परिवार उनकी मदद करेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उस वक्त अमर सिंह ने मदद का हाथ बढ़ाया था।जया बच्चन ने यूं साधा था निशाना: साल 2004 में एक चुनावी रैली में अमिताभ बच्चन की पत्नी जया ने कहा था कि ‘जो लोग हमें राजनीति में लाए वो बीच मंझदार में छोड़ कर चले गए थे। उन्होंने हमारा साथ तब छोड़ा था जब हम मुसीबत में थे। वे लोगों को धोखा देने के लिए जाने जाते हैं’।

राहुल ने किया था पलटवार: जया बच्चन के आरोंपों पर पलटवार करते हुए राहुल गांधी ने बच्चन परिवार पर झूठ बोलने का आरोप लगाया था। तब उन्होंने कहा था कि आखिर इस तरह के आरोप इतने साल बाद क्यों लगाए जा रहे हैं? अमिताभ करीब दो दशक पहले राजनीति में आए थे लेकिन उन्होंने अपना पाला बदल लिया। जो लोग गांधी परिवार को जानते हैं उन्हें पता है कि हम किसी को धोखा नहीं देते हैं। यह सबको मालूम है कि किसने किसको धोखा दिया है। इस वजह से अमिताभ बच्चन ने राजनीति से कर ली थी तौबा, क्या था जो हैंडल नहीं कर पाए बिग बी? जया ने दिया था जवाब

अमिताभ उतर गए थे जुबानी जंग में: तब इस पूरे विवाद पर अमिताभ बच्चन का भी एक बयान चर्चा का विषय बना था। अमिताभ ने गांधी परिवार की तुलना राजा से करते हुए कहा था कि ‘वो लोग राजा हैं और हम रंक हैं। यह उनके मूड पर निर्भर करता है कि किससे संबंध रखना चाहते हैं और किससे नहीं। अब मेरे परिवार पर झूठ बोलने का आरोप लगा रहे हैं…’।

Next Stories
1 प्रधानमंत्री की सुरक्षा का खर्च बता बोले पुण्य प्रसून बाजपेयी- गरीब होते देश में रईसी का आलम; लोग करने लगे ऐसे कमेंट
2 कॉमेडी में जरूरत नहीं फूहड़ता की, मां सरस्वती भी..- कपिल शर्मा शो पर एक बार फिर भड़के मुकेश खन्ना
3 मोदी जी की तस्वीर लोगों के दिलों में चस्पा है- डिबेट में बोले संबित पात्रा तो BSP नेता हुए नाराज़; हुई तीखी बहस
ये पढ़ा क्या?
X