ताज़ा खबर
 

जबरन लड़कियों को किस करने वाले लड़के का वीडियो देख रफ्तार को आया गुस्सा

कलाकार के तौर पर हम पार्टियों और उन मुद्दों पर गीत बनाते हैं जो हम रोजमर्रा में देखते हैं। अगर हम शुरू से देखें कि महिलाएं पुरुषों से ऊपर या नीचे नहीं, समान दर्जे पर हैं तो कुछ बदलाव आ सकता है।

Author नई दिल्ली | January 7, 2017 6:50 PM

देश की महिलाओं की समस्याओं पर आधारित नया गाना ‘औरत’ पेश करने वाले रैपर रफ्तार का कहना है कि फिल्में और गीत गंभीर समस्याओं को सुलझाने में मदद कर सकते हैं। रफ्तार ने कहा, “फिल्में और गीत गंभीर समस्याओं पर लगाम लगा सकते हैं। कलाकार के तौर पर हम पार्टियों और उन मुद्दों पर गीत बनाते हैं जो हम रोजमर्रा में देखते हैं। अगर हम शुरू से देखें कि महिलाएं पुरुषों से ऊपर या नीचे नहीं, समान दर्जे पर हैं तो कुछ बदलाव आ सकता है।” रफ्तार का गीत ‘औरत’ बेंगलुरू में नववर्ष की पूर्व संध्या पर महिलाओं के साथ हुई छेड़छाड़ की घटना के बाद आया है। रैपर ने कहा, “जैसा कि नाम से जाहिर है, ‘औरत’ भारत की महिलाओं और उनकी वर्तमान स्थिति और हम इस स्थिति के लिए कैसे जिम्मेदार हैं, इस पर आधारित है।”

खबरों के मुताबिक, रैपर यो यो हनी सिंह, बादशाह, रफ्तार, गायक मिका सिंह और फाजिलपुरिया को दिल्ली विश्वविद्यालय के महिला कॉलेजों में प्रस्तुति देने से प्रतिबंधित कर दिया गया था। यह पूछे जाने पर कि क्या यह प्रतिबंध ही ‘औरत’ बनाने का कारण है, रफ्तार ने कहा, “नहीं मैं पिछले ढाई वर्षो से यह फार्मेट ‘स्पोकन वर्ड’ पेश कर रहा हूं..लेकिन मुझे लगा कि इसे ऑनलाइन पेश करना सही समय है।” रफ्तार ने हाल ही में एक यूट्यूब वीडियो पोस्ट करने वाले के खिलाफ आवाज उठाई है। ये वीडियोज द क्रेजी सुमित नाम से यूट्यूब पर डाली जा रही थीं। ये वीडियो ज्यादातर लोगों के साथ प्रैंक करने के नाम पर बनाई जा रही थीं। हाल ही में एक और वीडियो अपलोड की गई जिसमें एक लड़का अंजान लड़कियों को जबरदस्ती पकड़ कर किस कर रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App