ताज़ा खबर
 

दीया और मेरी उम्र के हिसाब से हो कहानी: माधवन

हाल ही में इस फिल्म से जुड़ी खबरें आ रही हैं कि फिल्म के निमार्ता और अभिनेता जैकी भागनानी इस फिल्म के सीक्वल को बनाने की तैयारी कर रहे हैं और इस फिल्म में फिर से माधवन और दीया मिर्जा नजर आने वाले हैं।

Author Published on: June 26, 2020 5:43 AM
rehnaa hai terre dil mein sequel dia mirzaया मिर्जा और आर. माधवन 2001 में रिलीज फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ में मैडी और रीना के किरदार में नजर आए थे।

दीया मिर्जा और आर. माधवन 2001 में रिलीज फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ में मैडी और रीना के किरदार में नजर आए थे। हालांकि यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर इतनी बड़ी हिट साबित नहीं हुई थी, लेकिन इसके गानों ने दर्शकों के बीच खूब लोकप्रियता बटोरी थी।

हाल ही में इस फिल्म से जुड़ी खबरें आ रही हैं कि फिल्म के निमार्ता और अभिनेता जैकी भागनानी इस फिल्म के सीक्वल को बनाने की तैयारी कर रहे हैं और इस फिल्म में फिर से माधवन और दीया मिर्जा नजर आने वाले हैं। कहा जा रहा है कि फिल्म में माधव शास्त्री और रीना की शादी के 19 साल के बाद की कहानी दिखाई जाएगी। फिल्म के पहले भाग में सैफ अली खान की भी अहम भूमिका थी, पर अब शायद दूसरे भाग में सैफ की कोई भूमिका नहीं होगी। वहीं फिल्म के सीक्वल पर आर. माधवन ने ट्वीट किया। उन्होंने फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ के पोस्टर को साझा करते हुए ट्वीट किया है, ‘आरएचटीडीएम (रहना है तेरे दिल में) … दोस्तों मैं इस फिल्म के सीक्वल की अफवाहों को पढ़ रहा था। और उम्मीद कर रहा हूं कि यह सच हो- मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। बस प्रार्थना कर रहा हूं कि किसी के पास दीया और मेरे लिए उम्र के हिसाब से सही स्क्रिप्ट हो।’

हीरो बनने के लिए जुगाड़ की जरूरत नहीं : सिद्धार्थ

पिछले कुछ दिनों से भाई-भतीजावाद (नेपोटिज्म) को लेकर बॉलीवुड में बहस तेज है। इसी बीच सिद्धार्थ मल्होत्रा ने कहा है कि बॉलीवुड में बिना जुगाड़ और बिना कनेक्शन के भी हीरो बना जा सकता है। बॉलीवुड अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा ने फिल्म ‘स्टूडेंट आॅफ द इयर’ से बॉलीवुड में कदम रखा था, यह करण जौहर की थी।

सिद्धार्थ ने एक साक्षात्कार के दौरान बताया कि वे जब किशोरावस्था में थे तो उन्हें कभी नहीं लगता था कि बॉलीवुड में बिना कनेक्शन के हीरो भी बना जा सकता है। अभिनेता ने बताया कि उनके माता-पिता उन्हें एक एक्टर के तौर पर नहीं बल्कि एक बेहतर इंसान बनने की परवरिश दे रहे थे और उन्हें कभी ऐसा नहीं लगा था कि दिल्ली का लड़का बिना कनेक्शन के फिल्मों में अपनी जगह बना लेगा। उन्होंने कहा कि अगर लोगों को आपकी अदाकारी अच्छी लगी तो वे आपका काम देखेंगे वर्ना आप लोगों को अपने परिवार के सहारे थियेटर्स तक नहीं खींच कर ला सकते हो।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Tiktok स्टार सिया कक्कड़ सुसाइड केस: परिवार का दावा- वीडियो बनाने की वजह से मिल रही थीं धमकियां
2 परंपरागत भूमिकाएं नहीं करना चाहती: सुष्मिता
3 हमारी याद आएगीः और देश भर में गूंज उठी गौहर की आवाज